केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ‘सहकार प्रज्ञा’ का अनावरण किया

0
471
केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

नई दिल्लीः केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने हाल ही में ‘सहकार प्रज्ञा’ का अनावरण किया। इसके तहत एनसीडीसी लिनाक के 18 क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्रों और प्राथमिक सहकारी समितियों के लिए 45 प्रशिक्षण मॉड्यूल सम्मिलित हैं। तोमर ने एनसीडीसी को समर्पित और नवीनतम प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से प्राथमिक सहकारी समितियों में किसानों को सशक्त बनाने की सलाह दी है।

‘सहकार प्रज्ञा’ का अनावरण करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि देश के ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक सहकारिताओं में किसानों को एनसीडीसी द्वारा सहकार प्रज्ञा के अंतर्गत प्रशिक्षित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि एनसीडीसी सहकार प्रज्ञा द्वारा प्रशिक्षण के लिए समर्पित लक्ष्मणराव इनामदार राष्ट्रीय सहकारिता अनुसंधान एवं विकास अकादमी (लिनाक), जो कि एनसीडीसी से संबद्ध एवं वित्त पोषित है, द्वारा देश भर में 18 क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्रों के फैले अपने विस्तृत नेटवर्क के माध्यम से एनसीडीसी की प्रशिक्षण क्षमता को 18 गुना तक बढ़ाने का संकल्प करती है।

प्राथमिक सहकारी समितियों को तैयार करने के उद्देश्य से ज्ञान, कौशल एवं संगठनात्मक क्षमताओं को अंतरण करने हेतु सहकार प्रज्ञा में 45 प्रशिक्षण मॉड्यूल सम्मिलित हैं जिससे प्रधानमंत्री के ‘आत्म निर्भर भारत’ संकल्पना में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा।

लिनाक, वर्ष 1985 से अब तक सहकारी समितियों के 30,000 से अधिक व्यक्तियों को प्रशिक्षित कर चुका है। एनसीडीसी के प्रबंध निदेशक संदीप कुमार नायक ने कहा कि लिनाक ने एक वर्ष में सहकारी समितियों में लगभग 5000 किसानों को प्रशिक्षित करने की योजना बनाई है।

नायक द्वारा आगे कहा गया कि सहकारी समितियों को बाजार की अर्थव्यवस्था के पेशेवर व्यावसायिक शर्तों से संबधित मामलों से निपटने हेतु पैंतालीस समर्पित प्रशिक्षण मॉड्यूल से लैस करेंगे । उन्होंने कहा कि तोमर जी ने नवीन प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से प्राथमिक सहकारी समितियों में किसानों को सशक्त बनाने के लिए एनसीडीसी को निर्देशित किया है।

एनसीडीसी का गठन सहकारी सिद्धांतों पर कृषि उत्पादों, खाद्य पदार्थों, औद्योगिक वस्तुओं, पशुधन, कुछ अन्य वस्तुओं के उत्पादन, प्रसंस्करण, विपणन, भंडारण, निर्यात एवं आयात तथा सेवाओं जैसे कि अस्पताल व स्वास्थ्य और शिक्षा आदि के लिए कार्यक्रमों की योजना बनाने और बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया गया है।

यह तीनों स्तरों, प्राथमिक, जिला और शीर्ष बहु-राज्यीय सहकारी समितियों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है । एनसीडीसी कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन कार्यरत है।

विज्ञापन