आज एक बार फिर से आमने-सामने होंगे पीएम मोदी और शी जिनपिंग

0
409
File Photo

नई दिल्लीः एक लंबे वक्त से लद्दाख की एलओसी सीमा पर भारत और चीन के बीच विवाद जारी है। इस विवाद को कम करने के लिये दोनों देशों के बीच कई बार बैठक हो चुकी है। इसी बीच आज पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग आमने-सामने होगें।

पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। इसी सम्‍मेलन में चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग भी हिस्‍सा लेंगे। इस तरह एक महीने में दूसरी बार दोनों आमने-सामने होंगे। पिछले सप्‍ताह शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में दोनों शामिल हुए थे।

मंगलवार को होने वाले ब्रिक्‍स सम्‍मेलन में आतंकवाद, व्यापार, स्वास्थ्य, ऊर्जा के साथ ही कोरोना महामारी के चलते हुए नुकसान की भरपाई के उपायों जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अलावा ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भी इस बैठक में शामिल होना प्रस्तावित है।

बता दें ब्रिक्स (BRICS) को एक प्रभावी संगठन माना जाता है जो विश्व की कुल आबादी के आधे हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है। इसमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। ब्रिक्स देशों का संयुक्त रूप से सकल घरेलू उत्पाद (GDP) 16.6 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर है।

विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा, राष्ट्रपति पुतिन के निमंत्रण पर पीएम मोदी रूस की मेजबानी में हो रही ब्रिक्स देशों के 12वें शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। मंत्रालय ने बताया, बैठक में अगले ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए भारत को अध्यक्षता सौंपी जाएगी। भारत 2021 में होने वाले 13वें ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इससे पहले भारत ने 2012 और 2016 में ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता की है।

विज्ञापन