तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से नीतीश सरकार को बनाया निशाना

0
603
File Photo

पटना: बिहार में विपक्ष पार्टी (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव अक्सर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी करते हुए नजर आते हैं। लेकिन इस बार तेजस्वी यादव के निशाने का शिकार नीतीश सरकार के साथ स्वास्थ्य मंत्री भी बन गये। तेजस्वी यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा जारी किये गये आंकड़ों पर सवाल उठायें हैं। तेजस्वी यादव ने कोरोना संक्रमित आंकड़ों पर सवाल उठाते हुए कहा कौन सच्चा है और कौन झूठा है?

तेजस्वी यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जनता को तो धोखा दिया ही है, साथ ही साथ स्वास्थ्य मंत्री ने सदन में भी कोरोना के गलत आंकड़े पेश किए। उनके अनुसार आधे से अधिक जांच आरटी पीसीआर से हो रही है, जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जो आंकड़ा दिये हैं, उसके अनुसार यह जांच मात्र 10 प्रतिशत हो रही है। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पीएम को सूचना दी कि राज्य के 5 मेडिकल कॉलेजों में आरटी पीसीआर की जांच हो रही है लेकिन सच यह है कि अब तक इसका प्रस्ताव भी नहीं गया है। बता दें तेजस्वी बक्सर निकलने से पहले अपने आवास पर मीडिया को संबोधित कर रहे थे।

इस आरोप को लेकर उन्होंने एक ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने सदन में मुझे बताया कि कुल कोरोना जांच में से 52.9 प्रतिशत RT-PCR, 17.9 प्रतिशत TrueNat और 29 प्रतिशत Antigen टेस्ट हो रहे हैं। लेकिन CM नीतीश कुमार ने 11 अगस्त को PM के साथ समीक्षा बैठक में बताया कि बिहार में प्रतिदिन 10 प्रतिशत से भी कम RT-PCR जाँच हो रही है। कौन सच्चा? कौन झूठा?

तेजस्वी यादव ने एक औऱ ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि बिहार में जब 10 हजार जाँच हो रही थी तो 3000-3500 मरीज मिल रहे थे और अब 75 हजार जांच हो रही तब भी लगभग 3500-4000 मरीज मिल रहे हैं। इसका सीधा मतलब है जाँच में झोल-झाल हो रहा है, आंकड़ों की हेरा फेरी हो रही है।

विज्ञापन