संदिग्ध हालात में मंदिर में मिला साधु का शव

0
623

लखनऊः उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में संदिग्ध हालात में एक साधु का शव मिलने से हड़कंप मच गया। आशंका है कि किसी ने साधु की हत्या करके शव को मंदिर के अंदर फेंक दिया। जब रविवार की सुबह श्रद्धालु पूजा करने मंदिर पहुंचे तो उन्होंने पुलिस को इस घटना की जानकारी दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में करके पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। पुलिस ने जानकारी दी कि साधु के शरीर पर किसी तरह के चोट के कोई निशान नहीं हैं। अब साधु की किसी हत्या की है या फिर खुद ही उनकी मौत हो गई ये पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि साधू रामदास मुरादाबाद में काफी सक्रिय रहते थे।

वह रामगंगा नदी के सफाई अभियान से भी जुड़े हुए थे। साथ ही संत रामदास अवैध खनन वालों के खिलाफ भी आवाज़ उठाते रहते थे। संत रामदास के संदिग्ध परिस्थितियों में मंदिर में शव मिलने के बाद उनके परिवार जनों का कहना है कि उनकी मौत संदिग्ध लग रही है। वहीं, पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह का पता चल पाएगा।

मामले की जांच की जा रही है। स्थानीय एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि संत रामदास नवरात्रों के मौके पर मंदिर पहुंचे थे। उन्होंने नवरात्रों में गलशीद क्षेत्र के एक मंदिर में नौ दिन तक रुकने की बात लोगों को बताई थी। जिसके बाद उनका शव सुबह मंदिर में लोगों ने देखा।

बता दें इससे पहले प्रदेश के गोंडा जिले में एक मंदिर के पुजारी पर जानलेवा हमला किया गया था। मंदिर के जमीनी विवाद में पुजारी के साथ अनबन हुई थी फिर हमलावरों ने आधी रात पुजारी पर गोलियां चलाई। गनीमत तो रही कि पुजारी को घायल अवस्था में तुरंत ही अस्पताल में भर्ती करवा गया, जिससे उनकी जान बच गई।

विज्ञापन