राजनाथ सिंह ने कहा, जवान देश के लिये जो करते हैं उसका कर्ज उतारना मुश्किल है

0
200
File photo

नई दिल्लीः 14 जनवरी को पूर्व सैनिक दिवस मनाया जाता है। इस मौके पर केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कर्नाटक दौरे पर हैं। बेंगलुरु में आयोजित हो रहे इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, आज का दिन जहां हम हमारा भरण पोषण करने वाले अन्नदाताओं के नाम मनाते हैं।

वहीं दूसरी ओर यह दिन देश के सुरक्षा करने वाले वीरों और पूर्व सैनिकों के सम्मान के रुप में मनाया जाता है। 14 जनवरी को देश भर में मकर संक्रांति औऱ पोंगल का त्योहार मनाया जाता हैं औऱ इसके साथ-साथ भारतीय सेना में पूर्व सैनिक दिवस भी मनाया जाता है।

हमारे सेना के जवानों ने जिस शौर्य और पराक्रम का परिचय वह अभूतपूर्व है। हम भारत के सम्मान पर किसी भी तरह आंच नहीं आने देंगे। यह दिन हमें देश के जवानों के परिवार के त्याग को दिखाता है, जो उन्होंने देश की सुरक्षा के लिये किया है। जवानों ने जो देश के लिये किया है, उसका कर्ज हम कभी नहीं उतार सकते हैं।

लेकिन सरकार का हमेशा प्रयास रहता है कि वह आप के और आपके परिवार के सम्मान और देखभाल में जितना हो सके वह करे। हमारी कोशिश रहती है कि आपके बोझ को हम थोड़ा कम कर सके। इसके लिये हमने penury grant, chidren education, marriage grants, medical grants उसी दिशा में उठाये गये कुछ कदम हैं।

आगे रक्षा मंत्री ने कहा, पीएम मोदी ने भारतीय सेना और सैनिकों के लिए दशकों से लम्बित पड़ी वन रैंक वन पेंशन योजना को अपने पहले कार्यकाल के दौरान लागू किया। पिछले साल लालकिले से CDS के गठन की घोषणा की गई। इस निर्णय से सुरक्षा बलों के बीच संयुक्त बढ़ी है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की मार सबसे अधिक हमारे बुजुर्ग भाई-बहनों पर पड़ा है। इसे देखते हुए हमने लोकल फोर्मेशन कॉमनडर्सें (local formation commanders) को इसीएचएस पैनल में प्राइवेट अस्पतालों को भी शामिल करने के लिये अधिकृत किया है।

विज्ञापन