राहुल गांधी ने जल्लीकट्टू कार्यक्रम में लिया हिस्सा, विरोधियों ने कसे तंज

0
1059
File Photo

चेन्नईः कांग्रेस के नेता राहुल गांधी आज पोंगल के मौके पर तमिलनाडु के मदुरै में जल्लीकट्टू कार्यक्रम देखने पहुंचे। इस मौके पर राहुल गांधी के साथ डीएमके अध्यक्ष एम के स्टालिन के बेटे और एक्टर उदयनिधि भी मौजूद रहे। लेकिन सोशल मीडिया पर राहुल गांधी का जमकर मजाक बनाया गया और साथ ही साथ ट्‌विटर पर #Goback_Rahul हैशटैग ट्रेंड भी कर रहा था।

राहुल गांधी को तमिल विरोधी बताया गया। वहीं, #WelcomeNaddaJi भी ट्रेंड हो रहा है। जल्लीकट्टू से जुड़े कार्यक्रम में राहुल गांधी के शामिल होने पर विरोधी दलों के नेता भी सोशल मीडिया में तंज कसते नजर आये। दरअसल, साल 2016 में कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में इस महोत्सव पर बैन लगाने की बात कही थी। ऐसे में सोशल मीडिया पर ये सवाल उठ रहे हैं कि राहुल गांधी किस तरह इस कार्यक्रम में हिस्सा ले सकते हैं, वे महज राजनीति के लिए यहां आये हैं।

राहुल गांधी ने जल्लीकट्टू महोत्सव में शामिल होने के बाद कहा कि तमिल संस्कृति के बारे में जानकर उन्हें बहुत खुशी हुई है। यह देखकर अच्छा लगा कि जल्लीकट्टू महोत्सव आयोजन अच्छे से हुआ और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया। इस खेल में बैल और खेल में शामिल लोग भी सुरक्षित हैं।

बता दें कि आज बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा भी आज चेन्‍नई में पोंगल के कार्यक्रम में शामिल हुए। बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा 14 जनवरी को तमिलनाडु का एकदिवसीय दौरा पर हैं और इस दौरान वे चेन्नई में पार्टी की राज्य इकाई की ओर से पोंगल के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत किया है। नड्डा पश्चिमी चेन्नई जिले के मदुरावोयल में पार्टी की ओर से पोंगल पर आयोजित ‘नम्मा ओरू पोंगल’ कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

आपको बता दें कि ‘जल्लीकट्टू’तमिलनाडु के ग्रामीण इलाक़ों का एक परंपरागत खेल है जो पोंगल त्यौहार पर आयोजित किया जाता है। इसमें लोग बैलों को पकड़ने औऱ उन्हें काबू करने की कोशिश करते हैं।

विज्ञापन