इस रविवार को होने वाला पोलियो टीकाकरण अभियान स्थगित

0
798
File Photo

नई दिल्लीः देश भर में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान की शरुआत होने वाली है। ऐसे में 17 जनवरी को होनो वाला पोलियो टीकाकरण अभियान को स्थगित कर दिया गया है। माना जा रहा है कि कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए ये फैसला लिया गया है।

भारत में हर साल लाखों की संख्या में बच्चों को पोलियो की दवा दी जाती है। कोरोना वैक्सीनेशन के कारण इसे कुछ समय के लिए टाल दिया गया है। अगले नोटिस आने तक पोलियो टीकाकरण अभियान अभी देश में नहीं होगा। 25 सालों में ऐसा पहली बार हुआ है जब देश में पोलियो टीकाकरण अभियान को रोका गया है।

गौरतलब है कि सरकार 17 जनवरी से कोरोना टीकाकरण के पहले फेज की शुरुआत हो रही है। इसके तहत तीन करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। ज्ञात हों कि मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि दूसरी बीमारियों के लिए सामान्य तौर पर चलने वाला टीकाकरम कार्यक्रम भी प्रभावित ना हो।

भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान दुनिया का सबसे बड़ा अभियान होगा, लेकिन इसके साथ-साथ अन्य वैक्सीनेशन का काम भी चलता रहेगा। आपको बता दें कि टीकाकरण अभियान के तहत सबसे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना का वैक्सीन लगेगा। इसके बाद सफाईकर्मियों, पुलिसकर्मियों, सुरक्षाकर्मियों, सुरक्षा बल के जवानों को कोरोना का टीका लाया जाएगा।

इसके बाद दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के लोगों और जो लोग संक्रमण के लिए ज्यादा संवेदनशील हैं, उन्हें टीका लगेगा। बीते कल कोविशील्ड टीके की पहली खेप दिल्ली समेत 13 शहरों में पहुंच गई। इनमें दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, गुवाहाटी, शिलांग, अहमदाबाद, हैदराबाद, विजयवाड़ा, भुवनेश्वर, पटना, बंगलूरू, लखनऊ और चंडीगढ़ शामिल हैं।

इन शहरों के हवाईअड्डों से टीके के डिब्बों को पुलिस सुरक्षा में केंद्र सरकार के भंडारण कक्ष तक पहुंचाया गया। दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंची खेप का आधा हिस्सा राजीव गांधी सुपर स्पेशियल्टी अस्पताल स्थित भंडारण कक्ष में जबकि आधा हिस्सा करनाल भेजा गया। वहीं मुंबई के लिए खुराक के डिब्बों को सड़क मार्ग से पहुंचाया गया।

विज्ञापन