कुमारगंज गैंगरेप मामले में पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट

0
105
File photo

बालुरघाटः दक्षिणी दिनाजपुर जिले के कुमारगंज में हुए गैंगरेप मामले में पुलिस ने 11 दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल कर दी है। शुक्रवार को बालुरघाट जिला अदालत में चार्जशीट दाखिल करने के साथ-साथ महबुर मियां, पंकज बर्मन और गौतम बर्मन नामक तीनों दरिंदों को पेश किया गया। जहां से तीनों 14 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। अगले 31 तारीख को फिर से तीनों को अदालत में पेश किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि गत 5 जनवरी को दक्षिण दिनाजपुर के कुमारगंज बेलघर इलाके की रहने वाली 17 साल की नाबालिगा के साथ गैंगरेप कर दरिंदों ने उसकी हत्या कर दी थी। इतना ही नहीं साक्ष्‍यों को छिपाने के लिए उसके ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। घटना के बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया था।

दरिंदों की गिरफ्तारी के बाद मामले की जांच करते हुए पुलिस ने 11 दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल कर दी है। बता दें कि किसी भी घटना में चार्जशीट जमा करने के लिए पुलिस के पास 90 दिनों का वक्त रहता है। किन्तु कुमारगंज में हुई इस दरिंदगी की वारदात की जांच पुलिस ने मात्र 11 दिनों में साफ कर चार्जशीट जमा कर दी है।

उल्लेखनीय है कि घटना के पहले पीड़िता फूलबाड़ी बाजार के एक कपड़े की दुकान पर गई थी। दुकान के मालिक कार्तिक देवनाथ ने बताया है कि नाबालिगा दुकान के सामने खड़ी थी। कुछ ही देर में बाईक सवार 3 युवक वहां पहुंचे थें। उनमें से दो नाबालिगा को लेकर दुकान में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने एक चादर और एक रुमाल खरीदा। नाबालिका चादर ओढ़ ली थी। उसने बताया कि वह लड़की को तो पहचान लिया था किन्तु युवक टोपी और मोफलर से मुंह ढके हुए थे। घटना सामने आने के बाद स्‍थानीय लोगों और पुलिस का कहना है कि लड़की का महबुबुर मियां से प्रेम संबंध था।

नाबालिगा का जब जला हुआ शव मिला था। उस समय कुत्‍ते लड़की के शव को खा रहे थे। स्‍थानीय लोगों ने इस घटना के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया था और दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

विज्ञापन