अमेरिका हिंसा पर पीएम मोदी ने जताया दुख

0
786
फाइल फोटो

नई दिल्लीः अमेरिका में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ ग्रहण लेने से पहले ही वहां बवाल शुरू हो गया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हजारों नाराज समर्थकों ने अमेरिकी कैपिटल पर धावा बोल दिया और पुलिस से भिड़ गए, जिसके परिणामस्वरूप कई कई घायल हो गए। राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन की जीत से ना खुश लोगों ने एक संवैधानिक प्रक्रिया को बाधित किया।

इस घटना को लेकर पूरी दुनिया में अमेरिका की खूब निंदा हो रही है। अब पीएम मोदी ने अमेरिका में हुई इस हिंसा पर गहरा दुख जाहिर किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, वाशिंगटन डीसी में हिंसा की खबरें देखकर काफी व्यथित हूं। शक्ति का क्रमिक और शांतिपूर्ण हस्तांतरण जारी रहना चाहिए। लोकतांत्रिक प्रक्रिया को गैरकानूनी विरोध प्रदर्शनों के माध्यम से विकृत नहीं होने दिया जा सकता है।

दरअसल आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप अभी तक राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार मानने को स्वीकार नहीं हैं। बीती रात ट्रंप समर्थकों ने अमेरिकी कैपिटल में जमकर हंगामा किया। कैपिटोल परिसर के बाहर निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पुलिस के बीच हिंसक झड़प भी हुई, जिसके बाद परिसर को ‘लॉकडाउन’ कर दिया गया।

समर्थकों को रोकने और सांसदों को बचाने के लिए सुरक्षाकर्मियों को बंदूक भी निकालनी पड़ी। पूरी घटना में एक प्रदर्शनकारी की गोली लगने से मौत हो गई है।

कैपिटल पुलिस ने जानकारी दी है कि इस इलाके में एक संदिग्ध पैकेट भी मिला है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संसद का संयुक्त सत्र शुरू होने से ठीक पहले कहा कि वह चुनाव में हार को स्वीकार नहीं करेंगे।

उन्होंने आरोप लगाया कि इसमें धांधली हुई है और यह धांधली उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन के लिए की गई, जो नवनिर्वाचित राष्ट्रपति हैं। वहीं इस हमले को लेकर अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने इसे लोकतंत्र पर एक ‘अभूतपूर्व हमले’ बताया है।

विज्ञापन