देश में वैक्सीन के कारण एक मौत की पुष्टि, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

0
15463
फाइल फोटो

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के दूसरी लहर का कहर जारी है। कोरोना से लड़ने के लिये यदि सबसे पुख्ता कोई हथियार है, तो वो है वैक्सीन। देश में टीकाकरण अभियान तेजी से जारी है। लेकिन इन सबके बीच वैक्सीन के कारण एक व्यक्ति के मौत की पुष्टि की गई है।

केंद्र सरकार की ओर से गठित पैनल AEFI की रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है कि वैक्सीन लगने के कारण 68 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई है। दरअसल, देश में कुछ लोगों ने 31 लोगों की मौत कोरोना वैक्सीन से होने का दावा किया गया था। वैक्सीन के दुष्परिणामों को लेकर तरह-तरह के दावे किये जा रहे थे।

इसके बाद सरकार ने कोरोना वैक्सीन के गंभीर दुष्प्रभावों की समीक्षा की है। जिसके बाद वैक्सीन के कारण 31 लोगों की मौत पर पैनल की ओर से जांच की जा रही थी। इसमें ये खुलासा हुआ है कि इनमें से केवल एक व्यक्ति की ही मौत वैक्सीन के कारण हुई है।

AEFI कमिटी की रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है कि 31 गंभीर मामलों में से 18 मामले में कोइंसिडेंटल थे। इन लोगों का वैक्सीन से कोई लिंक ही नहीं था। जबकि इनमें से 7 मामले अनिश्चित (टीकाकरण के तुरंत बाद के हैं लेकिन इनका कोई सबूत नहीं है कि यह वैक्सीन के कारण हैं) थे।

3 मामले ऐसे हैं, जो वैक्सीन प्रॉडक्ट से संबंधित थे। जबकि दो मामले अवर्गीकृत (महत्वपूर्ण जानकारी अनुपलब्ध) वाले थे। जबकि 1 मामले को लेकर रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते 8 मार्च 2021 को वैक्सीन लगवाने के बाद 68 वर्षीय व्यक्ति की एनाफिलेक्सिस (एक तरह का एलर्जिक रिएक्शन) के कारण मौत हो गई।

वैक्सीनेशन को लेकर कहा गया है कि यदि कोई भी व्यक्ति वैक्सीन लगवाता है। वैक्सीन लगवाने के आधे घंटे तक वैक्सीनेशन सेंटर पर ही रुके। वैक्सीन लगवाने के बाद कई बार साइड डिफेक्ट्स देखे गये हैं। यदि ज्यादा परेशानी होती है, तो तत्काल इलाज कर उसे ठीक किया जा सकता है।

विज्ञापन