अब तृणमूल ने शिशिर अधिकारी को जिला अध्यक्ष पद से हटाया

0
413

कोलकाताः हाल ही में तृणमूल कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए गद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी के पिता सांसद शिशिर अधिकारी को तृणमूल कांग्रेस ने बीते कल के बाद आज एक बार फिर से बड़ा झटका दिया है। शिशिर अधिकारी को तृणमूल कांग्रेस ने पूर्व मेदिनीपुर जिला अध्यक्ष के पद से हटा दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नए जिला अध्यक्ष का दायित्व सोमेन महापात्र को दिया गया है। इसके पहले बीते कल शिशिर अधिकारी को दीघा-शंकरपुर डेवलपमेंट अथाॅरिटी के चेयरमैन पद से हटा दिया।

बीते कल दीघा-शंकरपुर डेवलपमेंट अथाॅरिटी के चेयरमैन पद से शिशिर अधिकारी को हटाए जाने पर शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि मैं चाहता हूं मेरे माता-पिता स्वस्थ रहें। उन्होंने कहा कि मैं इस बात पर टिप्पणी नहीं करता कि मेरे माता-पिता राजनीति में क्या करेंगे, जैसे वे नहीं करते कि मैं राजनीति में क्या करूंगा। उन्होंने कहा मैं उस प्राइवेट लिमिटेड पार्टी के बारे में कुछ नहीं कहूंगा। उन्हें कर्मचारियों की तलाश है। जो वहां रहना चाहते हैं रहें। जो नहीं चाहते वे निकल आएं।

शुभेंदु अधिकारी के भाजपा में शामिल होने के बाद अब तृणमूल को अधिकारी परिवार के प्रति कठोर होना पड़ रहा है। इससे पहले शुभेंदु के भाई सौमेंदु अधिकारी को भी बड़े पद से हटाया गया था। इसके बाद वह हाल ही में भाजपा में शामिल हो गए। ऐसे में बीते कल शिशिर अधिकारी को दीघा-शंकरपुर विकास बोर्ड के पद से हटा दिया गया। अखिल गिरी को दीघा-शंकरपुर डेवलपमेंट अथाॅरिटी का नया चेयरमैन बनाया गया।

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने ही कांथी में तृणमूल सांसद सौगत राय और फिरहाद हकीम ने सभा की थी। तबीयत खराब होने का दावा करते हुए शिशिर अधिकारी सभा में नहीं पहुंचे थे। अधिकारी परिवार से कोई भी इस सभा में नहीं शामिल हुआ था। शुभेंदु के भाजपा में शामिल होने के बाद से ही अधिकारी परिवार की तृणमूल से दूरी बढ़ती जा रही है।

शुभेंदु के भाजपा में शामिल होने के बाद उनके भाई सौमेंदु अधिकारी को कांथी नगरपालिका के प्रशासक पद से हटा दिया गया। नगर और शहरी विकास विभाग द्वारा एक निर्देशिका जारी कर कांथी के वर्तमान प्रशासनिक बोर्ड को भंग कर दिया गया था।

 

विज्ञापन