अब दफ्तर में 12 घंटे करने पड़ सकते हैं काम, कर्मचारियों को होगा बड़ा फायदा

0
570

नई दिल्लीः अब आपको दफ्तर में 12 घंटे काम करने पड़ सकते हैं। लेकिन घबराने की बात नहीं है, इसमें फायदा आपका ही होगा। दरअसल केन्द्रीय श्रम मंत्रालय ने कर्मचारियों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है।

श्रम मंत्रालय ने संसद में एक कानून पारित किया है। मंत्रालय ने प्रस्ताव दिया है कि रोजाना काम के घंटे को बढ़ाकर अधिकतम 12 घंटे कर दिया जाए। बता दें कि अभी एक दिन में अधिकतम काम 8 घंटे का होता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दिए गए प्रस्ताव में 12 घंटे की अवधि के बीच लंच यानी की इंटरवल भी शामिल है। 19 नवंबर 2020 को अधिसूचित इस मसौदे में साप्ताहिक काम के घंटे को 48 घंटे पर ही बरकरार रखा गया है।

मसौदे के अनुसार, किसी भी दिन ओवरटाइम की गणना में 15 से 30 मिनट के समय को 30 मिनट गिना जायेगा। मौजूदा व्यवस्था के तहत 30 मिनट से कम समय की गिनती ओवरटाइम के रूप में नहीं की जाती है।

File Photo

मसौदे के अनुसार, कोई भी व्यक्ति कम से कम आधे घंटे के इंटरवल के बिना पांच घंटे से अधिक लगातार काम नहीं करेगा। सप्ताह के हिसाब से हर रोज कार्य के घंटे इस तरह से तय करने होंगे कि पूरे सप्ताह में ये 48 घंटे से अधिक न हो पायें।

विज्ञापन