अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा बंगाल हिंसा का मामला

0
886
फाइल फोटो

नई दिल्लीः चुनावी नतीजे के बाद पश्चिम बंगाल में हिंसक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। एक के बाद एक आगजनी, हिंसा और मारपीट की खबरें सामने आ रही हैं। अब तक राज्य में कई बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या करवा दी गई है। अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक जा पहुंचा है।

भारतीय जनता पार्टी के नेता गौरव भाटिया ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दर्ज की है। साथ ही इस हिंसक घटनाओं को लेकर उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की है। गौरव भाटिया द्वारा दाखिल की गई याचिका में कहा गया है कि चुनावी नतीजों के बाद से ही बंगाल में हिंसा जारी है।

बीजेपी समर्थक महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। कई बीजेपी कार्यकर्ताओं को पीटा गया, कई कार्यकर्ताओं की हत्या भी की गई। इन सारे मामलों पर सीबीआई जांच होनी चाहिये। वहीं पीएम नरेन्द्र मोदी ने भी राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोन करके इन सारी हिंसक घटनाओं पर चिंता के साथ-साथ दुख भी जताया है।

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार दोपहर को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फोन पर बात कर बंगाल में जारी हिंसा को लेकर चिंता व्यक्ति की है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी आज से दो दिवसीय बंगाल के दौर पर हैं। कोलकाता पहुंचे नड्डा बोले कि हमारे कार्यकर्ताओं की शहादत बेकार नहीं जायेगी।

मैं यहां देखने आया हूं और उन कार्यकर्ताओं के साथ हूं जिन पर हमले हुए हैं। हम प्रजातांत्रिक तरीके से लड़ाई लड़ेंगे। हम टीएमसी की अराजकता से प्रजातांत्रिक तरीके से लड़ेंगे। जेपी नड्डा ने कहा कि वह उत्तर 24 परगना जायेंगे। बता दें कि दक्षिण 24 परगना जिले के गोपाल नगर इलाके में भी हिंसा की जानकारी सामने आई है। जानकारी के अनुसार यहां तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कुछ दुकानों और घरों में तोड़फोड़ की है।

विज्ञापन