नोकिया को चांद पर 4G नेटवर्क लगाने का मिला ठेका

0
441

नई दिल्लीः नोकिया कंपनी को चांद पर अपना 4G नेटवर्क लगाने का ठेका मिल गया है। नोकिया चांद पर 4G सेल्युलर कम्युनिकेशंस नेटवर्क के एक प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। इससे पहले भी कंपनी ने चांद पर हाई-स्पीड सेल्युलर कनेक्टिविटी लाने में रुचि दिखाई है लेकिन अब नासा ने नोकिया को इस काम के लिए 14.1 मिलियन डॉलर दिए हैं।

घोषणा कल जारी किए गए अनुबंधों के 370 डॉलर मीटर के हिस्से के रूप में हुई है। यह कॉन्ट्रैक्ट नोकिया की यूएस सहायक कंपनी को दिया गया है लेकिन यह पूरी कंपनी के अनुभव को आकर्षित करेगा। नासा ने कहा कि यह प्रणाली अधिक दूरी पर चंद्र सतह संचार का समर्थन कर सकती है, गति बढ़ा सकती है और वर्तमान मानकों की तुलना में अधिक विश्वसनीयता प्रदान कर सकती है।

बता दें कि नोकिया को 14.1 मिलियन डॉलर का ठेका दिया गया है। Nokia की अमेरिकी सब्सिडियरी कंपनी को NASA ने खास मिशन के लिए चुना गया है। बता दें कि Space X के 370 मिलियन डॉलर के बजट के मुकाबले NASA की तरफ Nokia को दिया गया बजट काफी छोटा है। Gizmochina की रिपोर्ट के मुताबिक नोकिया चांद पर 4G सेल्युलर कम्युनिकेशंस नेटवर्क के एक प्रोजेक्ट पर काम कर रही है।

इससे पहले भी कंपनी ने चांद पर हाई-स्पीड सेल्युलर कनेक्टिविटी लाने में रुचि दिखाई थी। रिपोर्ट के मुताबिक Nokia की तरफ से चांद के लिए बनाया 4G सिस्टम ज्यादा दूरी, तेज स्पीड और ज्यादा बेहतर तरीके से चांद की सतह पर कम्युनिकेशन करने में सपोर्ट कर सकता है। चांद पर 4जी नेटवर्क लाने के लिए नोकिया की यह पहली कोशिश नहीं है।

आपका याद दिला दें कि नोकिया ने इसी तरह की एक पार्टनरशिप का ऐलान वोडाफोन जर्मनी के साथ 2018 में की थी। कंपनी ने दावा किया था कि 2019 तक चांद पर 4जी कवरेज मिलेगी। लेकिन अभी तक कंपनी का यह वादा वास्तविकता में नहीं बदला है।

विज्ञापन