बिहार के पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने फरार रहने के बाद किया सरेंडर

0
4560
फाइल फोटो

सुप्रियो राय, पटना: बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने सरेंडर कर दिया है।उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार खाक छान रही थी। पूर्व समाज कल्याण मंत्री की गिरफ्तारी से पहले कोर्ट ने उनके आवास की कुर्की जब्ती हुई थी। उन्होंने मंझौल कोर्ट में सरेंडर किया है।

लंबे जद्दोजहद के बाद आखिरकार मंजू वर्मा ने मंझौल कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। इससे पहले मंजू वर्मा के आवास चेरियबरियारपुर के अर्जुनटोल में पुलिस की मौजूदगी में उनके घर पर इश्तेहार चिपकाया गया था। कोर्ट ने उनके घर की कुर्की जब्ती का आदेश दिया था. जिसके बाद उनके घर की कुर्की जब्ती हुई थी।मंझौल कोर्ट ने धारा 82 और 83 के तहत पुलिस को कार्रवाई का आदेश जारी किया था।

गौरतलब है कि पुलिस ने कुछ दिन पहले कोर्ट से मंजू वर्मा के खिलाफ इश्तेहार और कुर्की जब्ती का आदेश मांगा था। इस संबंध में मंजू वर्मा के वकील ने कोर्ट को एक लिखित आवेदन देकर मंजू वर्मा को फरारी न मानते हुए उनके खिलाफ इश्तेहार और कुर्की जब्ती के आदेश पर रोक लगाने की अपील की थी। इस मामले में कोर्ट ने मंजू वर्मा के वकील की दलील को खारिज करते हुए इश्तेहार और कुर्की जब्ती का आदेश जारी किया था।

मंजू वर्मा आर्म्स एक्ट के मामले में थी। उनकी गिरफ्तारी नही होने पर बिहार सरकार की भी लगातार किरकिरी हो रही थी। वहीं, इसी मामले में उनके पति चंद्रशेखर वर्मा पहले ही कोर्ट में सरेंडर कर चुके हैं और इस वक्त जेल में बंद हैं।