ऑपरेशन के बाद मुकुल रॉय की हालत स्थिर, मिलने पहुंचे दिलीप घोष

0
747

कोलकाताः बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय की तबीयत बिगड़ जाने के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वे बुधवार को पार्टी की एक बैठक में शामिल हुए थे। वापस लौटते समय उनकी तबीयत कुछ खराब लग रही थी। जिसके बाद अधिक तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इसी बीच शुक्रवार को मुकुल रॉय को देखने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष अस्पताल पहुंचे। कुछ देर तक दोनों नेताओं ने बात की। इस दौरान दिलीप घोष ने मुकुल रॉय के स्वास्थ्य की जानकारी ली।

गौरतलब हो कि बुधवार को मुकुल रॉय की तबीयत अचानक खराब हो गई थी। पेट में अचानक दर्द होने लगा था। कुछ देर तक जब दर्द बंद नहीं हुआ तो उन्हें सीधे ईएम बाईपास स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जांच करने पर चिकित्सकों को पता चला उन्हें गाल ब्लडर है। ऐसे में चिकित्सकों ने कहा कि तुरंत गाल ब्लडर का ऑपरेशन करना पड़ेगा। इसके बाद ही गुरुवार रात ऑपरेशन किया गया। शुक्रवार सुबह मुकुल राॅय को देखने दिलीप घोष अस्पताल पहुंचे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुकुल राॅय की तबीयत बिगड़ते ही कई केन्द्रीय नेताओं ने उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली है। उधर अस्पताल के बाहर उनके चाहने वालों की भीड़ लगी है। सभी उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं। अस्पताल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुकुल राॅय काफी ठीक हैं।

शुक्रवार को दिलीप घोष के साथ-साथ बीजेपी के महासचिव और प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय भी मुकुल राॅय को देखने अस्पताल पहुंचे। मुकुल राॅय को देखने के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट करते हुए कहा कि गॉलब्लैडर के ऑपरेशन के बाद पश्चिम बंगाल के वरिष्ठ भाजपा नेता श्री मुकुल राॅय जी अब स्वस्थ हैं और बहुत जल्द सामान्य हो जाएंगे। आज मैंने उनसे मुलाकात की और उनके हालचाल जाने।

बता दें कि राज्य में अगले ही साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। भाजपा हर हाल में राज्य की सत्ता पर आने का लक्ष्य लेकर चल रही है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बंगाल में 200 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्य मिलने के बाद बीते मंगलवार को कोलकाता में पार्टी की केंद्रीय कमेटी की बैठक हुई।

इस बैठक में पूरे बंगाल को पांच जोन में बांटा गया है। प्रत्येक जोन में समन्वय और बेहतर तालमेल की कमान एक-एक केंद्रीय नेतृत्व को सौंपी गई है। जिन केंद्रीय नेताओं को जिम्मेवारी सौंपी गयी है उनमें सुनील देवधर, बिनोद सोनकर, दुशमंत गौतम, बिनोद तावड़े और हरीश द्विवेदी शामिल हैं।

विज्ञापन