मन की बात: पीएम बोले- हमें जल संरक्षण के महत्व को समझना चाहिये

0
754
File Photo

नई दिल्ली: पीएम नरेन्द्र मोदी का मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात 74वां संस्करण प्रसारित किया गया। पीएम ने अपने रेडियो कार्यक्रम के जरिये देशवासियों को संबोधित किया। पीएम ने जल सरंक्षण के महत्व को समझाते हुए कहा, जल हमारे लिये जीवन है, आस्था भी है और विकास की धारा भी है।

पानी पारस से भी ज्यादा महत्वपूर्ण है। इसका बिना हम जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। इंसानी विकास के लिये जल बहुत महत्व रखता है। इसलिये हमें भी जल संरक्षण के महत्व को समझना चाहिये। हमें इसके प्रयास के लिये आज से ही जुड़ जाना चाहिये। 22 मार्च को विश्व जल दिवस भी है।

पीएम ने अपने कार्यक्रम के दौरान जल के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातें की। उन्होंने आगामी परीक्षाओं के लिये सभी छात्रों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने छात्रों, अभिभावकों औऱ शिक्षकों से परिक्षा के दौरान अपने अनुभवों के बारें में आप MyGov पर शेयर कर सकते हैं।

इस दौरान उन्होंने रविदास जी के बारें में बात करते हुए कहा, रविदास जी कभी नहीं चाहते थे कि हम अपने सपनों के लिये दूसरों के ऊपर निर्भर नहीं रहना चाहिये। पीएम मोदी ने कहा, रविदास जी कहते थें- करम बंधन में बन्ध रहियो, फल की ना तज्जियो आस। कर्म मानुष का धम्र है, सत् भाखै रविदास। अर्थात् हमें निरंतर अपना कर्म करते रहना चाहिए, फिर फल तो मिलेगा ही मिलेगा, कर्म से सिद्धि तो होती ही होती है।

पीएम मोदी ने तमिल भाषा के बारें में कहा, मेरी एक कमी ये रही कि मैं दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा– तमिल सीखने के लिए बहुत प्रयास नहीं कर पाया, मैं तमिल नहीं सीख पाया। यह एक ऐसी सुंदर भाषा है, जो दुनिया भर में लोकप्रिय है। बहुत से लोगों ने मुझे तमिल लिटरेचर की क्वालिटी और इसमें लिखी गई कविताओं की गहराई के बारे में बहुत कुछ बताया है।

दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा तमिल सीखने के लिए बहुत प्रयास नहीं कर पाया, मैं तमिल नहीं सीख पाया। आगे उन्होंने कहा, आत्म निर्भर भारत की पहली शर्त होती है- अपने देश की चीजों पर गर्व होना, अपने देश के लोगों द्वारा बनाई वस्तुओं पर गर्व होना।

जब प्रत्येक देशवासी गर्व करता है, प्रत्येक देशवासी जुड़ता है, तो आत्मनिर्भर भारत सिर्फ एक आर्थिक अभियान न रहकर एक राष्ट्रीय भावना बन जाता है। साथ ही अंत में पीएम ने आने वाले सभी त्योहारों की देशवासियों को अग्रिम शुभकाननाएं दी।

विज्ञापन