MLA की संदिग्ध मौतः लालबाजार ज्ञापन देने पहुंचे भाजपा सांसद सौमित्र खान को गेट से ही लौटाया

0
203

कोलकाताः उत्तर दिनाजपुर जिले के हेमताबाद से भाजपा विधायक देबेन्द्र नाथ राॅय की संदिग्ध मौत मामले में ज्ञापन देने लालबाजार पुलिस मुख्यालय पहुंचे भाजपा सांसद सौमित्र खान को गेट से ही लौटा दिया गया। जिसके बाद सांसद ने ममता सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी सरकार ने प्रदेश को ‘पुलिस राज’ में तब्दील कर दिया है।

सौमित खान ने कहा कि तबादले के डर से पुलिस सहमे हुए हैं। यदि वे अपने मन से कुछ कर देंगे तो मुख्यमंत्री कहीं उनका तबादला न करवा दें। दरअसल बुधवार को सांसद सौमित्र खान कोलकाता पुलिस कमिशनर से मुलाकात करने के लिए अर्जी लगाई थी। किन्तु आरोप है कि उन्होंने उनका फोन रिसीव नहीं किया। इसके बाद सांसद खान ने डीसी को फोन कर बात की। उन्होंने भी मुलाकात करने से इनकार कर दिया। अंत में वे लालबाजार पुलिस मुख्यालय के गेट से ही ज्ञापन देकर लौटे।

इसके बाद मीडिया कर्मियों से उन्होंने कहा कि सीपी के पास मुलाकात करने का वक्त नहीं है। उन्होंने मेरा फोन रिसीव नहीं किया। डीसी ने भी मुलाकात नहीं की। गेट से ही ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी सरकार ने प्रदेश को ‘पुलिस राज’ में तब्दील कर दिया है। पुलिस वालों के मन में भारी डर है मुख्यमंत्री कहीं उनका तबादला न कर दें। भारतीय जनता पार्टी ने बीते कल पूरे प्रदेश में पुलिस थानों के समक्ष प्रदर्शन किया और पार्टी विधायक देबेंद्र नाथ राय की मौत के मामले की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की मांग की।

प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के शासन में पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा एवं हत्या में वृद्धि हुई है। घोष ने कहा कि हम परिवर्तन लाने के लिये लोकतांत्रिक रूप से संघर्ष कर रहे हैं और 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों में इसका समापन होगा। प्रदेश के उत्तर दिनाजपुर जिले के बिंदल गांव में हेमताबाद विधायक का शव सोमवार को घर के पास एक दुकान के बाहर बरामदे में छत से लटकता मिला था। कोलकाता, ​बिधाननगर एवं राज्य के अन्य हिस्सों में पुलिस थानों के बाहर प्रदर्शन हुआ और भाजपा नेताओं ने कुछ स्थानों पर धाना प्रभारियों को ज्ञापन भी दिया।

विज्ञापन