कुहेली मामलाः 3 महीने के लिए चिकित्सकों का रजिस्ट्रेशन रद्

0
51

कोलकाता: वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल ने कुहेली मामले की सुनवाई करते मामले से जुड़े 3 चिकित्सकों का रजिस्ट्रेशन 3 महीने के लिए रद् कर दिया है। वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टैबलिशमेंट रेगुलेटरी कमिशन के बाद मामले की सुनवाई वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल में चल रही थी।

कुहेली के पिता अभिजीत चक्रवर्ती ने कहा कि मेरी बच्ची के इलाज में लापरवाही बरतने वाले चिकित्सकों ने वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल पर इस कदर दबाव डाला की काउंसिल ने केवल 3 महीने के िलए उनका रजिस्ट्रेशन रद्द किया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुभाष तिवारी, संजय महारवार अौर वैशाली राय श्रीवास्तव का रजिस्ट्रेशन रद् किया गया है।

उन्होंने कहा कि काउंसिल के इस फैसले से हम बिल्कुल भी खुश नहीं हैं। अभिजीत ने कहा कि वह मामले के रिव्यू की माँग करते हैं। अगर एेसा नहीं होता है तो अब मामले को हाई कोर्ट तक लेकर जायेंगे। उन्होंने बताया कि मामले की जानकारी देने के लिए शनिवार को 11.30 बजे वह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करेंगे। अभिजीत ने कहा मेरी बिटिया की मौत के जिम्मेदार सभी चिकित्सकों के खिलाफ हमारे पास पुख्ता सबूत है।

उल्लेखनीय है कि वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टैबलिशमेंट रेगुलेटर कमिशन ने मामले की सुनवाई करते हुए पहले की अस्पताल के खिलाफ 30 लाख रुपये का जुर्माना लगा चुका है। अस्पताल प्रबंधन जुर्माना देने को तैयार भी हो गया पर अस्पताल का कहना था कि वह कमीशन के निर्देश का पालन करते हुए यह जुर्माना दे रहा है पर अस्पताल की कोई गलती नहीं है।

यह बयान सुनने के बाद परिवार वालों ने जुर्माना की रकम लेने से इनकार कर दिया था। इसके बाद पीड़ित परिवार ने वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टैबलिशमेंट में इंसाफ की माँग करते हुए आरोपी चिकित्सकों के रजिस्ट्रेशन रद् करने की अपील की थी। पर कमिशन के पास किसी का रजिस्ट्रेशन रद करने का अधिकार नहीं।

इसलिए राज्य मेडिकल काउंसिल के पास इस आवेदन को भेजा गया है क्योंकि एकमात्र राज्य मेडिकल काउंसिल ही आरोपी चिकित्सकों का आवेदन रद् कर सकती है।

विज्ञापन