अनाथ बच्चों के लिए ज्योती बनी “Divine Breath”

0
471

कोलकाता: अच्छी सेवा एवं सुख-सुविधाएं हर कोई पाने की इच्छा रखता है। पर यह सुविधा हर किसी को प्राप्त नही होती है विशेषकर गरिब एवं अनाथ बच्चे के लिए तो यह असंभव ही है। अनाथ बच्चे इस सुविधाओं से हमेशा वंचित रह जाते है। जो अपने आप को  को समाज का कटा-कटा से अनुभव करते है।

विज्ञापन

कुछ अनाथ एवं बेसहारा महिलओं को ‘डिवाइन ब्रेथ’ नामक एक गैरसरकारी संस्था द्वारा सामाज से जोड़ने की पहल की गई। संस्था की तरह से 200 अनाथ बच्चों को इंडोर और आउटडोर स्पोर्ट्स के सामान वितरण किए गए।

सोमवार शाम मध्य कोलकाता स्थित ट्राएंगुलर पार्क में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह सामान वितरित किया गया। मौके पर संस्था की सचिव निहारिका मुखर्जी ने बताया कि यह प्रथम वर्ष है और इस वर्ष 200 अनाथ एवं जरुरतमंद बच्चों को खेल के सामन दिया गया। दिए गए सामानों में घर के अंदर एवं बाहर खेले जाने वाले स्पोर्ट्स प्रोटक्ट शामिल है।

अनाथ बच्चो की उम्र 7 वर्ष से 13 वर्ष के मध्य है। इन अनाथ बच्चों के अलावा बेसहारा 40 एसी महिलाएं भी है। इन महिलओं के  लिए संस्था द्वारा स्वारोजगार एवं आत्मनिर्भर बनाने का काम किया जा रहा है।

संस्था के अध्यक्ष राजेश चंद्रा ने बताया कि कार्यक्रम  में अनाथ बच्चों एवं बेसहारा महिलाओं के मनोरंजन के लिए रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संगित, नत्य एवं जादु का खेल शामिल है।

अगले वर्ष इस कार्यक्रम को बड़े रुप में करने की कोशिश की जाएगी।