दस छात्रओं को स्कूल ने लेस्बियन बताया, बात से परिजन भड़के

0
739
कमला बालिका विद्यालय

कोलकाताः कोलकाता के एक निजी स्कूल ने 10 छात्राओं पर लेस्बियन होने का आरोप लगाया है। इस आरोप के बाद छात्राओं के परिजनों ने स्कूल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। घटना दक्षिणी कोलकाता के कमला गर्ल्स स्कूल की है। हंगामा कर रहे परिजनों का

स्कूल में हंगामा करते छात्राओं के परिजन

कहना है कि स्कूल मैनेजमेंट ने जबरदस्ती छात्राओं से लेस्बियन होने की बात कबूल कराकर उनसे लिखित में एक पत्र लिखा लिया है।

इस विषय पर स्कूल संचालिका ने परिजनों के आरोपों को नकार दिया। स्कूल संचालिका का कहना है कि स्कूल की कुछ छात्राओं ने10 छात्राओं के खिलाफ शिकायत की थी। जिसके बाद मैनेजमेंट ने आरोपी छात्राओं को बुलाकर उनसे पूछताछ की थी। पूछताछ में छात्राओं ने बात लेस्बियन होने की बात कबूली थी।

स्कूल संचालिका के अनुसार छात्राओं के अभिभावकों को इस मामले पर चर्चा करने के लिए स्कूल बुलाया गया था। स्कूल का उद्देश्य सिर्फ था कि अभिभावकों से बात कर छात्राओं को सही रास्ते पर लाया जा सके।

पर आरोपी छात्राओं के अभिभावक बिगड़ गए और उन्होंने स्कूल में हंगामा कर दिया। वही परिजनों का आरोप है कि स्कूल प्रशासन ने बिन कारण ही उनके बच्चियों का भविष्य खराब कर दिया।

अभिभावकों ने स्कूल मैनेजमेंट के सभी आरोपों को बेबुनियाद और झूठा बताया है। लोगों का कहना है कि समलैंगिकता को लेकर बनी भारतीय कानून की धारा 377 देश की आजादी से भी पुरानी है।

उल्लेखनीय है कि इस धारा को साल 1861 में लागू किया गया था। बहरहाल मामले की जांच चल रही है।

विज्ञापन