कोलकाता के व्यवसायी की करोड़ों की संपत्ति जब्त

0
577

कोलकाता: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोलकाता के एक व्यवसायी श्यामसुंदर बजाज की 1.08 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त कर लिया है। नोटबंदी के दौरान श्मामसुंदर ने गया के जी.बी रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में करोड़ों के प्रतिबंधित नोट जमा कराए थे। बीते साल सितंबर माह में भी ईडी ने श्याम सुंदर बजाज व उनकी कंपनी मेसर्स शिवम एजेंसी के 1.53 करोड़ रुपये जब्त किए थे।

विज्ञापन

आठ नवंबर, 2016 को नोटबंदी के बाद गया के मशहूर टेक्सटाइल व्यवसायी मोतीलाल पटवा के माध्यम से गया के जी.बी रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया में पांच सौ व हजार रुपये के करोड़ों के प्रतिबंधित नोट बैंक अधिकारियों और कर्मियों की मिलीभगत से विभिन्न खातों धारकों के नाम पर जमा करवाया था।

उस समय इन रुपयों का मुख्य स्रोत व्यावसायिक बताया गया था। बाद में आयकर विभाग और ईडी ने जांच पाया कि यह सभी रुपये खाताधारियों के बैंक खातों से उसी दिन कोलकाता के व्यवसायी श्यामसुंदर बजाज के कोलकाता स्थित बैंक खाते में ट्रांसफर करा दिए गए थे।

ईडी की दल ने बैंक के चार खाताधारियों विमल कुमार, भोला टेक्सटाइल, शिवा टेक्सटाइल और रुबी कुमारी से पूछताछ में पया कि उन्हें उनके बैंक खाते में लाखों रुपये आने और उसे स्थानांतरित किए जाने के विषय में कोई जानकारी नही है और न ही उनका श्यामसुंदर बजाज नामक किसी व्यावसायी से किसी प्रकार का कोई संबंध है।

पूछताछ में पता चला मोतीलाल पटवा ने रुबी कुमारी के बैंक खाते में 60 लाख, भोला टेक्सटाइल के खाते में 75 लाख, शिवा टेक्सटाइल के खाते में 36 लाख और विमल कुमार के खाते में 10 लाख रुपये के प्रतिबंधित नोट जमा कराए थे।
श्याम सुंदर बजाज की जब्त संपत्ति में कोलकाता स्थित स्ट्रैंड रोड का उनका कार्यालय परिसर और 24 परगना जिला में जमीन के प्लॉट भी शामिल हैं।

ईडी सूत्रों के अनुसार उनका एक दल बैंक अधिकारियों और कर्मियों से भी पूछताछ कर जांच कर रहा है।