किसान आंदोलनः पुलिस कार्रवाई पर TMC सांसद बोलीं- ‘यह सब देख मेरा दिल टूट गया’

0
617
फाइल फोटोः नुसरत जहां

कोलकाताः गणतंत्र दिवस पर किसानों ने दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने का फैसला लिया था। किसानों ने यह रैली निकाली भी। किसानों ने दावा किया था कि वे शांतिपूर्ण तरीके से यह रैली निकालेंगे, लेकिन हुआ उल्टा।

दिल्ली में कई जगह किसानों और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई। इस दौरान पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा। पुलिस प्रशासन को गच्चा देते हुए किसान लाल किले तक पहुंच गए।

इसी बीच तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने किसानों पर हुई पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है कि जिस प्रकार से पुलिस ने किसानों पर लाठी चार्ज किया यह सब देख उनका दिल टूट गया है।

दरअसल सांसद नुसरत जहां ने किसानों पर पुलिस द्वारा किए जा रहे लाठी चार्ज का एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि गणतंत्र दिवस पर यह सब देखकर मेरा दिल टूट गया! मोदी सरकार ने हमारे किसान भाइयों और बहनों पर ऐसे क्रूर हमले किए हैं जो पूरे देश को खिलाने के लिए पूरे साल अथक परिश्रम करते हैं!आज पूरी दुनिया हमारी तरफ देख रही है, इस पर रोक लगनी ही चाहिए!

उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सरकार का असंवेदनशील और उदासीन रवैया इसके लिए जिम्मेदार है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि पहले, इन कानूनों को किसानों को विश्वास में लिए बिना पारित किया गया था और फिर पूरे भारत में और पिछले 2 महीनों से दिल्ली के पास डेरा डाले हुए किसानों के विरोध के बावजूद, वे उनसे निपटने में बेहद लापरवाह हैं। केंद्र को किसानों के साथ जुड़ना चाहिए और कानूनों को निरस्त करना चाहिए।

एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली की सड़कों पर होने वाली चिंताजनक और दर्दनाक घटनाओं से बुरी तरह परेशान हूं। केंद्र सरकार के असंवेदनशील रवैये और हमारे किसान भाइयों और बहनों के प्रति उदासीनता को इस स्थिति के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए।

विज्ञापन