कल्याण बनर्जी ने कहा, हिम्मत है तो बीजेपी बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिखाए

0
687

कोलकाताः राज्य में लगातार राजनीतिक हिंसा जारी है। इसे लेकर शुक्रवार को केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने राज्य की सत्ताधारी तृणमूल पर बड़ा हमला बोला। बाबुल सुप्रियो ने कहा कि सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को मतदाताओं को डराना धमकाना तुरंत बंद कर देना चाहिए नहीं तो संविधान में इससे निपटने के लिए प्रावधान मौजूद हैं।

बाबुल सुप्रियो के इस बयान के बाद तृणमूल कांग्रेस में हलचल तेज हो गई। तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी ने पलटवार किया। कल्याण बनर्जी ने बाबुल सुप्रियो को सीधे चेतावनी दे डाली है। बनर्जी ने चेतावनी देते हुए कहा कि आगर हिम्मत है तो बीजेपी बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू करवा कर दिखाए।

कल्याण बनर्जी ने कहा कि कभी अमित शाह कहते हैं, कभी राज्यपाल कहते हैं, तो कभी बाबुल सुप्रिया कहते हैं। हर दिन एक ही बात कहने का कोई मतलब नहीं है। अगर हिम्मत है, तो बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू कर बीजेपी दिखाए। बंगाल के लोग सब जवाब देंगे।

दरअसल शुक्रवार को बाबुल सुप्रियो ने बंगाल में राष्ट्रपति शासन के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि बंगाल की जनता हमारे साथ है। अगर ममता बनर्जी दोबारा सत्ता में आती हैं, तो यह मानना ​​होगा कि पुलिस और प्रशासन पर उनका प्रभाव है। हमें उम्मीद है कि हम कम से कम 200 सीटें हासिल करेंगे और बंगाल की सत्ता में आएंगे।

बीजेपी के बंगाल की सत्ता में आने पर राज्यवासियों को सब कुछ मिलेगा। ममता बनर्जी को संविधान पर भरोसा नहीं है। इससे निपटने का रास्ता हमारे पास है। सुप्रियो ने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस ने 100 से अधिक बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की है।

कल्याण बनर्जी के अलावा तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने भी बाबुल सुप्रियो पर निशाना साधा। सौगत रॉय ने बाबुल सुप्रियो पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बाबुल सुप्रियो गीत संगीत से ही जुड़े थे यही कारण है कि वह राजनीति के बारे में कुछ नहीं समझते हैं। सौगत राॅय ने कहा बाबुल सुप्रियो की इन बातों का कोई फायदा नहीं। ये बातें कहकर तृणमूल को डराया नहीं जा सकता।

विज्ञापन