जम्मू-कश्मीरः जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादी ढ़ेर

0
356
फाइल फोटो

श्रीनगरः एक बार फिर से भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान के नापाक इरादों को नाकाम किया है। बीती रात जम्मू-कश्मीर की एलओसी सीमा पर भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तानी के तीन घुसपैठियों को मार गिरा दिया। भारतीय सेना ने घुसपैठियों की कोशिश को नाकाम कर दिया है। इस दौरान पाकिस्तानी गोलाबारी में सेना के चार जवान घायल हो गये।

घायल सैनिकों का इलाज सैनिक अस्पताल में किया जा रहा है। इस दौरान भारतीय सेना की कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए, साथ ही घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया गया। बताया जा रहा है कि भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे ये तीनों आंतकवादी जैश-ए-मोहम्मद के बताये जा रहे हैं। हालांकि दो आतंकवादी इस बीच बचकर निकल भागे।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि मारे गये आतंकवादियों के शव एलओसी के पाकिस्तान की तरफ पड़े हैं और इन्हें अब तक पाकिस्तानी सैनिकों ने नहीं उठाया है। यह 2021 में एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा किया गया पहला बड़ा संघर्षविराम उल्लंघन है। एक सैनिक अधिकारी ने इस संबंध में बताया कि बीती रात को पाकिस्तानी सैनिकों ने खौड़ सेक्टर में अचानक से भारतीय चौकियों को निशाना बनाते हुए गोलीबारी का सिलसिला शुरू कर दिया।

भारतीय जवान भी सतर्क थे। उन्होंने भी जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। उन्हें शक था कि अचानक से की जा रही इस गोलीबारी के पीछे आतंकी घुसपैठ का इरादा है। भारतीय सैनिकों ने पांच घुसपैठियों को रात के अंधेरे में छुपते-छिपाते भारतीय सीमा की ओर आते देखा गया। इससे पहले कि पांचों आतंकवादी भारतीय सीमा पर प्रवेश करते जवानों ने तीन आतंकवादियों को वहीं मौके पर ढ़ेर कर दिया।

बता दें कि आतंकवादी गणतंत्र दिवस की खुशियों में किसी तरह का परेशानी ना खड़ी कर दें। इसके लिए सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमा से सटे इलाकों में चौकियों की संख्या भी बढ़ा दी गई है। रोजाना तलाशी अभियान भी चलाये जा रहे हैं।

विज्ञापन