जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों ने चार आतंकवादियों को किया ढ़ेर

0
444
फाइल फोटो

श्रीनगरः भारतीय जवानों और आतंकियों के बीच बुधवार की दोपहर जम्मू-कश्मीर के श्रीगुफवारा अनंतनाग के शलगुल वन क्षेत्र में मुठभेड़ हो गई। भारतीय सैनिकों के हाथों चार आतंकवादियों का खात्मा हो गया है। मारे गये आतंकवादियों की अभी तक कोई पहचान नहीं हो पाई है।

भारतीय जवानों ने मारे गये आतंकवादियों के शव और उनके पास मौजूद हथियारों को अपने कब्जे में ले लिया है। अनंतनाग में अभी भी जवानों और आतंकवादियों की बीच मुठभेड़ चल रही है। बताया जा रहा है कि अभी और भी आतंकवादी छिपे हुए हैं।

इस घटना के संबंध में जानकारी देते हुए एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि अनंतनाग के सेरिगुफवाड़ा में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना प्राप्त हुई थी। इसके बाद राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) के जवानों ने संयुक्त घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू कर दिया था।

ऐसे में जब जंगल में छिपे आतंकियों ने जब भारतीय जवानों को अपने नजदीक आते देखा तो उन्होंने उन पर गोलियां चलाना शुरू कर दी। भारतीय सैनिकों ने आंतकवादियों को आत्मसमर्पण करने के लिये कहा लेकिन वो नहीं माने और लगातार जवानों पर गोलियां चलाते रहे।

करीब तीन से चार घंटों तक भारतीय जवानों और आंतकवादियों के बीच मुठभेड़ चलती रही इसी में चार आंतकवादी जवानों की गोली का निशाना बन गये और मारे गये। फिलहाल भारतीय जवानों का तलाशी अभियान जंगलों से लेकर पूरे इलाके में जारी है।

कहीं कोई अन्य आंतकवादी भी छिपे हुए हों इसके लिये कानून-व्यवस्था कायम रखने के लिए आसपास के क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। पूरे क्षेत्र के निकासी सीमाओं को सील कर दिया गया है। वहीं कोई अफवाह न फैले इसके लिये अनंतनाग में इंटरनेट सेवा को अस्थायी रूप से बंद किया गया है।

विज्ञापन