भारत के खिलाफ ‘बच्चों’ को तैयार कर रहा हाफिज सईद

0
151

इस्लामाबाद: प्रतिबंधित संगठन जमात उद दावा (JuD) भारत के खिलाफ जिहाद फैलाने के लिए मासूम बच्चों का भी इस्तेमाल कर रहा है। इसका सबूत देती एक तस्वीर सामने भी आई है। तस्वीर में JuD के नेता सदाकत का बेटा नजर आ रहा है जिसके हाथ में एक बड़ी सी बंदूक है। यह तस्वीर इस्लामाबाद में हुए एक कार्यक्रम की बताई जा रही है। हाफिज सईद जिसे मुंबई में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है वह ही JuD का मुखिया है। यह आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा का ही हिस्सा है।

बच्चे के पीछे जो पोस्टर लगा है उसपर लिखा है कि कश्मीर पाकिस्तान का अभिन्न हिस्सा है और कश्मीर की ‘आजादी’ के लिए वह सपॉर्ट देते रहेंगे। खबरों के मुताबिक, JuD बच्चों को अपने साथ जोड़ने के लिए अभियान चलाकर उन्हें भारत के खिलाफ जिहाद फैलाने के लिए उकसा रहा है। इस संगठन द्वारा पाकिस्तान में कुछ मदरसे और धार्मिक स्कूल चलाए जा रहा हैं जो छोटे बच्चों का ब्रेनवॉश कर रहे हैं। इन बच्चों के मन में अमेरिका के लिए भी नफरत भरी जाती है।

इसी बीच एक खबर यह भी है कि पाकिस्तान सरकार भी अब इन संगठनों से परेशान हो चुकी है। बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्तान ने ऐंटी टेरर लॉ में संशोधन किया है। ऐंटी टेरर कानून में सुधार के बाद मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और सरगना हाफिज सईद से जुड़े जमात उद दावा और फलह ए इंसानियत फाउंडेशन को भी प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल किया गया है।

पाकिस्तान के इस अध्यादेश से जमात उद दावा और फलह ए इंसानियत के साथ साथ अल अख्तर ट्रस्ट और अल राशिद ट्रस्ट जैसे संगठनों पर भी प्रतिबंध का रास्ता साफ हो गया है। ये सभी संगठन संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल हैं। बता दें कि अमेरिका कई बार पाकिस्तान को आगाह कर चुका है कि वह अपनी जमीन से संचालित होने वाले आतंकी संगठनों और आतंकियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करे।