कोरोनाः पहले भारतीय मरीज के संक्रमण की तस्वीर भारतीय वैज्ञानिकों ने जारी की

0
528

पुणेः कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। देश में कोरोना वायरस के चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या 800 के पार पहुंच चुकी है। भारत में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था। इसी बीच पुणे के भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) के वैज्ञानिकों ने संक्रमण की पहली तस्वीर जारी की है। ये तस्वीर ट्रांसमिशन इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप इमेजिंग की मदद से ली गई है। इन्हें इंडियन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईजेएमआर) के लेटेस्ट एडिशन में दिखाया गया है।

भारत में कोरोना वायरस की चपेट में आई पहली मरीज चीन में पढ़ाई करने वाले तीन छात्रों में शामिल थी। उसके रक्त नमूनों की जांच में पता चला था कि भारत में मिला यह वायरस चीन के वुहान शहर में मिले वायरस से मैच कर रहा है। बता दें की कोरोना वायरस से पीड़ित उक्त मरीज के गले की नली से नमूनों को जांच के लिए लिया गया था। जांच के बाद माइक्रोस्कोप से तस्वीर ली गई थी।

उल्लेखनीय है कि देश में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में देश में कुल 110 नए मामलों की पुष्टी हुई है। इस प्रकार भारत में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 834 हो गई है। वहीं अब तक देश में कुल 19 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 67 लोग अब तक इस बीमारी से ठीक हो गए हैं।

कोरोना वायरस के खतरे से बचने के लिए पूरे देश में लाॅकडाउन जारी है। इस संकट की घड़ी में बीते कल केन्द्र सरकार ने प्रभावित गरीबों, मजदूरों और किसानों को राहत देने के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये के स्पेशल पैकेज की घोषणा की है। बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण स्कीम के तहत गरीबों को कैश ट्रांसफर किया जायेगा। इसके साथ ही कोरोना वायरस से जंग लड़ने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को 50 लाख रुपये का बीमा कवर देने की भी घोषणा की गई है।

विज्ञापन