भारतीय सेना ने प्रशिक्षित 20 सैन्य घोड़ों और 10 कुत्तों को बांग्लादेश सेना को सौंपा

0
264

नई दिल्लीः भारतीय सेना ने पूरी तरह से प्रशिक्षित 20 सैन्य घोड़ों और 10 बारूदी सुरंग का पता लगाने वाले कुत्तों को बांग्लादेश सेना को सौंपा है। आम तौर पर दोनों देशों के बीच और खासतौर पर दोनों सेनाओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत करने के प्रयासों के तहत, भारतीय सेना ने बांग्लादेश सेना को बड़ा उपहार दिया है।

भारतीय सेना ने पूरी तरह से प्रशिक्षित 20 सैन्य घोड़े और 10 बारूदी सुरंग का पता लगाने वाले कुत्तों को बांग्लादेश सेना को दिए हैं। इन घोड़ों और कुत्तों को भारतीय सेना के रेमाउंट और वेटरनरी कोर द्वारा प्रशिक्षित किया गया था। भारतीय सेना ने इन विशेषज्ञ कुत्तों और घोड़ों को प्रशिक्षित करने और उन्हें संभालने के लिए बांग्लादेश सेना के जवानों को प्रशिक्षित भी किया है।

भारतीय सेना के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ब्रह्मास्त्र कोर के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल नरेंद्र सिंह खरौद ने किया, जबकि बांग्लादेश सेना के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मेजर जनरल मोहम्मद हुमायूं कबीर ने किया, जो जेसोर स्थित डिवीजन की कमान संभाल रहे हैं। सौंपने का यह समारोह भारत-बांग्लादेश सीमा पर पेट्रापोल- बेनापोल एकीकृत चेक पोस्ट (आईसीपी) पर आयोजित किया गया। ढाका में भारतीय उच्चायोग के ब्रिगेडियर जे. एस. चीमा भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ बांग्लादेश के साथ भारत की साझेदारी इस क्षेत्र में अच्छे पड़ोसी संबंधों के एक आदर्श के रूप में सामने है। इस भावना के साथ दोनों देशों के बीच बने बंधन के और भी मजबूत होने की उम्मीद है।

ब्रह्मास्त्र कोर के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल नरेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय सेना में सैन्य कुत्तों का प्रदर्शन सराहनीय रहा है। हम सुरक्षा जैसे मुद्दों पर बांग्लादेश जैसे मित्र देश की सहायता करने के लिए हमेशा तत्पर हैं। जहां तक सुरक्षा की बात है, कुत्तों ने अपनी क्षमता साबित की है। जिन कुत्तों को सौंपा गया है, वे बारूदी सुरंग एवं निषिद्ध पदार्थों का पता लगाने में बेहद कारगर हैं।

विज्ञापन