भारत-चीन तनावः राजनाथ सिंह बोले- जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं

0
290
File Photo

नई दिल्लीः बीते कई महीनों से लद्दाख की सीमा पर तनाव जारी है। भारत-चीन के सैनिक बड़ी संख्या में सीमा पर मुस्तैद हैं। अब तक दोनों देशों की सेना के बीच कई राउंड की बात हो चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है।

इसी बीच केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा दोनों देशों के बीच जो बातचीत चल रही थी उसमें अभी तक कोई बड़ी कामयाबी नहीं मिली है। अभी भी यथास्थिति बनी हुई है। उन्होंने कहा कि अगले राउंड की भी बैठक होगी उसमें मिलिट्री लेवल पर बातचीत होगी।

उन्होंने चीन को चेतावनी देते हुए कहा, जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं। भारत के अंदर वो ताकत है, जो अपनी जमीन को किसी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगा। आगे रक्षामंत्री ने कहा, अगर यथास्थिति बनी रहती है, तो यह स्वाभाविक है कि तैनाती को कम नहीं किया जा सकता है।

हमारी तैनाती में कोई कमी नहीं होगी और मुझे लगता है कि उनकी तैनाती में भी कमी नहीं आएगी। मुझे नहीं लगता कि यथास्थिति एक सकारात्मक नतीजा है। वार्ता जारी है और वे एक सकारात्मक परिणाम दें, यही हमारी अपेक्षा है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत-चीन में लंबे वक्त से सीमा को लेकर विवाद है, ऐसे में अच्छा होता ये पहले ही खत्म होते। अगर ये खत्म हो गया होता, तो आज की स्थिति नहीं होती। चीन सीमा की अपनी ओर लगातार इंफ्रास्ट्रक्चर बना रहा है, लेकिन भारत भी अपनी सेना और नागरिकों के लिए काम कर रहा है। हम किसी पर आक्रमण करने के लिए नहीं बल्कि अपनी सुविधा के लिए ऐसा कर रहे हैं।

वहीं नये कृषि संबंधी कानूनों को लेकर रक्षा मंत्री ने कहा कि यह जो तीन कानून बने हैं, किसानों के हितों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। पिछली सरकारों की तुलना में हमने न्यूनतम समर्थन मूल्य काफी बढ़ाई है। इन तीनों कानूनों के माध्यम से हमने पूरी कोशिश की है यह किसानों की आमदनी दो-तीन गुना बढ़े। जल्द ही इसका समाधान भी निकल जायेगा।

विज्ञापन