सीएए के विरोध में युवक ने अपने ही पेट में करीब 28 बार घोंपा धारदार हथियार

0
88

कांथीः नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में एक युवक ने अपने ही पेट में करीब 28 बार धारदार हथियार घोंप लिया। घटना गुरुवार की पश्चिम बंगाल के मेदनीपुर जिले के कांथी की है। घायल अवस्था में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह कारनामा करने वाले युवक का नाम ताहिरुद्दीन शेख (34) बताया जा रहा है। पिछले कई दिनों से स्थानीय क्षेत्रों में सीएए और एनआरसी के विरोध में हुई कई रैलियों में उसने हिस्सा लिया था। सीएए और एनआरसी को लेकर पिछले कई दिनों से वह बेहद परेशान था। कानून को लेकर अपने भविष्य के प्रति वह काफी आतंकित था। पड़ोसियों और अपने दोस्तों से वह अक्सर सीएए और एनआरसी को लेकर बात करता था।

परिवार सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह अपने ही घर में वह अपने ही पेट में करीब 28 बार धारदार हथियार घोंप लिया। रक्तरंजित अवस्था में ही वह अपने घर में पड़ा हुआ था। सुबह लोगों की नजर जब उस पर पड़ी तो लोगों के होश उड़ गए। तुरंत उसे कांथी अस्पताल ले जाया गया। यहां से चिकित्सकों ने उसे कोलकाता के अस्पताल में रेफर कर दिया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

इस घटना के विषय में महकमा पुलिस अधिकारी अभिषेक चक्रवर्ती ने कहा कि एक युवक ने अपने ही पेट में धारदार हथियार घोंप लिया है। संभवतः एनआरसी विरोध के कारण ही युवक ने अपने पेट में धारदार हथियार घोंपा है। घटना की जांच चल रही है। उल्लेखनीय है कि एनआरसी के विरोध में मौत की कई घटनाएं घट चुकी है।

गौरतलब हो कि नागरिकता संशोधन कानून के आने के बाद से ही बंगाल भर में विरोध हो रहा है। सीएए के विरोध में सत्ताधारी तृणमूल का आंदोलन जारी है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सीएए के विरोध में एक के बाद एक रैलियां निकाली जा रही है।

विज्ञापन