शुभेंदु और सौगत समेत पांच सांसद किसी भी समय बीजेपी में शामिल हो सकते हैंः अर्जुन

0
599
File Photo

कोलकाताः राज्य में अगले ही साल विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन उससे पहले ही राज्य की सत्ताधारी तृणमूल खेमे में बगावत की सुगबुगाहट नजर आ रही है। यह सुगबुगाहट शनिवार को और बढ़ गई जब बैरकपुर के बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने एक बड़ा दावा किया। सांसद अर्जुन सिंह ने दावा किया कि तृणमूल के एक या दो नहीं बल्कि पांच ऐसे सांसद हैं जो किसी भी समय बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

अर्जुन सिंह के इस बयान के बाद राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। तृणमूल कांग्रेस के लोकप्रिय नेता और परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी के पिछले कई दिनों से बगावती तेवर देखने को मिल रहे हैं। लेकिन इसी बीच शनिवार सुबह छठ पूजा के अवसर पर बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह गंगा के सैर पर निकले थें। इसी दौरान उन्होंने ने बड़ा दावा किया।

सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि केवल शुभेंदु अधिकारी ही नहीं बल्कि सौगत राय सहित कम से कम पांच ऐसे तृणमूल सांसद ऐसे जो तृणमूल से इस्तीफा देकर किसी भी समय भाजपा में शामिल होने के लिए तैयार हैं। केवल समय का इंतजार है। वहीं इस पर सांसद सौगत राय ने कहा कि मर जाऊंगा, लेकिन भाजपा में कभी शामिल नहीं होऊंगा।

उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस के लोकप्रिय नेता और परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने बगावती तेवर दिखाते हुए नंदीग्राम दिवस पर टीएमसी से अलग रैली की थी। अपनी रैली में उन्होंने भारत माता की जय के नारे भी लगाए। माना जा रहा है कि चुनावी मौसम में शुभेंदु सीएम ममता को झटका दे सकते हैं। शुभेंदु अधिकारी की इस रैली में पोस्टर से ममता की तस्वीर गायब होने से राज्य की सियासत में हलचल तेज हो गई। यहीं नहीं ममता कैबिनेट की बैठक में जब चार मंत्री शुभेंदु अधिकारी, राजीब बनर्जी, गौतम देब और रवींद्र घोष नहीं पहुंचे तो हलचल और भी बढ़ गई।

उधर शुभेन्दु अधिकारी के इस तेवर से गदगद बीजेपी उन्हें पार्टी में शामिल कराने के लिए उत्सुक है। क्योंकि मुकुल राय के बाद बीजेपी खेमे को लगता है कि अगर उन्हें शुभेन्दु अधिकारी जैसे लोकप्रिय नेता का साथ मिल जाए तो 2021 की लड़ाई उनके लिए और भी आसान हो जाएगी।

राज्य के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष से लेकर कई राज्य नेताओं ने शुभेन्दु अधिकारी का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से स्वागत किया है। इसी बीच सांसद अर्जुन सिंह ने सौगत राय का भी नाम लिया है जो बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। इतना ही नहीं अर्जुन सिंह ने कहा कि शुभेंदु अधिकारी जैसा नेता यदि तृणमूल छोड़ देता है तो सरकार गिर जाएगी। जमीनी स्तर पर तृणमूल के पास कोई शक्ति नहीं रहेगी।

अर्जुन सिंह के बयान के जवाब में, तृणमूल के सांसद सौगता रॉय ने पहले तो इसे खारिज कर दिया, लेकिन बाद में तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा मैं राजनीति छोड़ दूंगा, मर जाऊंगा लेकिन, मैं भाजपा में नहीं जाऊंगा। क्योंकि मुझे लगता है कि भाजपा एक सांप्रदायिक पार्टी है। उसके खिलाफ लड़ाई हमेशा के लिए जारी रहेगी। वह जो कह रहे हैं वह भाजपा का झूठा प्रचार है, जो अफवाहों को उकसाने की नीति है।

विज्ञापन