आगरा की पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, चार की मौत

0
619
File photo

लखनऊः ताजनगरी आगरा के शाहगंज क्षेत्र के आजमपाड़ा में रविवार दोपहर तकरीबन 12:40 बजे तेज धमाका होने से आस-पास के इलाके में दहशत फैल गई। ये हादसा इतना भयानक था कि फैक्ट्री के साथ ही पड़ोस के कई मकानों की दीवारें धवस्त हो गईं। मलबा दूर-दूर तक बिखरा हुआ नजर आया।

घर की छत भी पूरी तरह से उखड़ गई। ये हादसा चमन मंसूरी के घर में हुआ। एलपीजी सिलिंडर में लीकेज से आग लगी और आग पटाखों में पहुंची, जिससे धमाका हो गया। जिस घर में धमाका हुआ, उनका मुगल फायरवर्क्स के नाम से आतिशबाजी का ब्रांड है, जिसका लाइसेंस गांव मिढ़ाकुर का है, फैक्टरी शाहगंज क्षेत्र में चल रही थी। अब तक की जानकारी के मुताबिक सात लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

धमाके के बाद आग भी लग गई। इतना ही नहीं हादसे में तीन लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। आनन-फानन में पुलिस प्रशासन और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। धमाके की सूचना पुलिस और दमकल विभाग को दी गई। मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में जुट गईं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक धमाका इतनी तेज था कि घर में रहने वालों के अंगों के चिथड़े उड़ गए।

आसपास के घरों की छतों पर शेरू के परिजनों के अंग बिखरे पड़े थे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि सिलिंडर में विस्फोट के बाद घर में रखी आतिशबाजी में धमाका हुआ। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों की टीम घायलों का इलाज करने में जुटी है। घटना में आसमां पुत्री चमन मंसूरी, अरसद पुत्र चमन मंसूरी और पच्चा घायल हुए हैं।

फरमान पुत्र जफरुद्दीन शेरू, शकील और आविद समेत चार लोगों की मौत हुई है। हादसे में पड़ोसियों के घरों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। पड़ोस के रहने वाले एक शख्स का कहना है कि उनके घर की दीवार पूरी तरह से ढह गई लेकिन गनीमत रही परिवार के किसी भी सदस्य की जान नहीं गई।

वहीं, दूसरी तरफ कॉलोनी के कई सारे लोगों के चोटें भी आई हैं। उनका कहना है कि शिकायत कई बार स्थानीय स्तर पर पुलिस से कर चुके हैं, लेकिन पुलिस लगातार इस मामले की अनदेखी करती रही।

विज्ञापन