बंगाल में शिक्षा राजनीतिक पिंजरे में फंसती नजर आ रही हैः राज्यपाल धनखड़

0
230
File photo

कोलकाताः राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि बंगाल में शिक्षा राजनीतिक पिंजरे में फंसती नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि मैनें कोरोना संकट में 15 जुलाई को विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ एक वर्चुअल कॉन्फ्रेंस निर्धारित किया था। मगर राज्य सरकार का कहना है कि नियमों के अंतर्गत वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के लिए कोई प्रावधान नहीं है।

इस वर्चुअल कॉन्फ्रेंस का कई कुलपतियों ने बहिष्कार किया। इसे लेकर राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि मैं पश्चिम बंगाल में शिक्षा को राजनीतिक पिंजरे में फंसा देख रहा हूं। मैं कुलपतियों के साथ एक बैठक कर विश्वविद्यालयों के समक्ष आ रही परेशानियों के बारे में जानना चाहता था लेकिन उन्होंने इसका पुरजोर विरोध किया।

वहीं बंगाल सरकार के उच्च शिक्षा विभाग ने कहा है कि कुलपित द्वारा किसी भी राज्य-सहायता प्राप्त विश्वविद्यालय में किए जाने वाले प्रस्तावित संचार को विभाग के माध्यम से भेजा जाएगा और इस तरह के संचार पर कार्रवाई एक बार विभाग द्वारा संपन्न होने के बाद की जाएगी।

गौरतलब है कि धनखड़ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से छात्रों के समक्ष पेश आने वाली समस्याओं पर चर्चा करने के लिए 15 जुलाई को कुलपतियों के साथ ये डिजिटल बैठक बुलाई । धनखड़ विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति भी हैं।

विज्ञापन