राजनाथ सिंह ने मिश्र धातु निगम लिमिटेड के कार्य-प्रदर्शन की समीक्षा की

0
260
file photo

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्‍ली में मिश्र धातु निगम लिमिटेड के कार्य-प्रदर्शन की समीक्षा की। इस रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम (डीपीएसयू) के अधिकारियों ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्‍पादन विभाग के वरिष्‍ठ अधिकारियों को अपनी वर्तमान परियोजनाओं एवं भावी योजनाओं से अवगत कराया।

राजनाथ सिंह ने रक्षा विनिर्माण के स्‍वदेशीकरण में मिधानी के उल्‍लेखनीय योगदान की सराहना की। इसके साथ ही सिंह ने अन्‍य सेक्‍टरों जैसे कि अंतरिक्ष, ऊर्जा एवं रेलवे में अपने व्‍यवसाय के विविधीकरण के लिए भी मिश्र धातु निगम लिमिटेड की काफी प्रशंसा की। सिंह ने इस बात पर विशेष बल दिया कि विशेष मिश्र धातुओं (एलॉय) एवं सामग्री के क्षेत्र में भारत को आत्‍मनिर्भर बनाने में मिश्र धातु निगम लिमिटेड महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। सिंह ने इन अधिकारियों से नवाचार तथा अनुसंधान एवं विकास (आरएंडडी) पर और भी अधिक फोकस करने को कहा। उन्‍होंने कहा कि अपने विशिष्‍ट उत्‍पादों एवं ग्राहकों तथा निर्यात की व्‍यापक संभावनाओं की बदौलत मिश्र धातु निगम लिमिटेड ने रक्षा कंपनियों के बीच अपनी अनूठी पहचान बना ली है।

मिश्र धातु निगम लिमिटेड ने पिछले पांच वर्षों में उल्‍लेखनीय प्रदर्शन किया है। इस कंपनी के विभिन्‍न उत्‍पादों का कुल मूल्‍य वित्त वर्ष 2014-15 के 640 करोड़ रुपये से लगभग 27 प्रतिशत बढ़कर वित्त वर्ष 2018-19 में 815 करोड़ रुपये के उच्‍च स्‍तर पर पहुंच गया है। मिश्र धातु निगम लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण 4,637 करोड़ रुपये के शिखर पर पहुंच गया है। यही नहीं, मिश्र धातु निगम लिमिटेड का शेयर भाव 20 फरवरी, 2020 को 248.45 रुपये के अब तक सर्वकालिक उच्‍चतम स्‍तर को छू गया। ‘मिधानी’ के शेयरों की ट्रेडिंग अब भी प्रति शेयर 90 रुपये के निर्गम मूल्‍य से ज्‍यादा के भाव पर हो रही है।

जगुआर लड़ाकू विमान के लिए एडॉर एमके 811 इंजनों के कंप्रेसर हेतु उच्च-दाब वाली डिस्क के आयात के विकल्‍प का विनिर्माण करना और नौसेना में इस्‍तेमाल के लिए 74 किलो की टाइटेनियम कास्टिंग बनाना इस कंपनी की कुछ प्रमुख उपलब्धियां हैं।

विज्ञापन