कोरोना के कारण फिर से टला कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव

0
735
फाइल फोटोः सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह

नई दिल्ली: आगामी 23 जून को कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव होने वाला था, लेकिन कोरोना महामारी के मद्देनजर चुनाव को फिर से टाल दिया गया है। अब चुनाव के लिए नई तारीख का ऐलान सेंट्रल इलेकशन अथॉरिटी की ओर से बाद में किया जायेगा।

चुनाव समिति के कार्यक्रम के मुताबिक 23 जून को पार्टी के अध्यक्ष का चुनाव करवाने का प्रस्ताव केसी वेणुगोपाल ने दिया था। लेकिन पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि अभी संक्रमण के कारण स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे में चुनाव करना उचित नहीं होगा।

सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई बैठक में उन्होंने कहा कि बीते चार हफ्तों से देश में कोरोना की स्थिति और भी अधिक भयावह हो गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने वैज्ञानिक की नसीहत को माना नहीं जिसका खामियाजा आज पूरा देश चुका रहा है।

सोनिया गांधी ने कहा कि पूरी कांग्रेस पार्टी की ओर से मैं सभी संस्थानों और देशों को धन्यवाद कह रही हूं जो इस संकट की घड़ी में हमारे देश की मदद के लिये आगे आये। उन्होंने कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी ने बहुत खराब प्रदर्शन किया है, इसे नकारा नहीं जा सकता है।

सोनिया ने कहा कि हम ये सोचने की आवश्यकता है कि असम, केरल में हमारी पार्टी क्यों नहीं जीत पायी और पश्चिम बंगाल में तो कांग्रेस एक सीट भी अपने नाम नहीं कर पाई। इस हार से सबक लेने की जरूरत है। इस पर हम दोबारा से चर्चा करेंगे।

चुनावी नतीजों पर पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को मंथन करने की आवश्यकता है। वहीं अशोक गलहोत ने भी कोरोना काल में चुनाव को टालना ही उचित समझा है। अशोक गलहोत की बात पर गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा जैसे नेताओं ने समर्थन दिया है।

विज्ञापन