काॅलेज-विश्वविद्यालय में दिसंबर से शुरू होंगे क्लासः पार्थ चटर्जी

0
481
File Photo

कोलकाताः राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि काॅलेज-विश्वविद्यालय में क्लास दिसंबर से शुरू होंगे। विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि यूजीसी के दिशा निर्देश के अनुसार स्नातक और स्नातकोत्तर के क्लास दिसंबर से शुरू होंगे।

शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि बगैर सैनिटाइज के कैंपस परिसर में छात्रों की उपस्थिति संभव नहीं है। शिक्षा विभाग से मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसके बाद राज्य सरकार इस संबंध में समय पर निर्देश देगी। पहले 2 नवंबर से क्लास शुरू होने की बात थी। हालांकि बैठक में दुर्गापूजा की छुट्टी की बात उठी। जिसके बाद दिसंबर से शैक्षणिक वर्ष शुरू करने का फैसला लिया गया।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि दुर्गापूजा एक राष्ट्रीय त्योहार बन गया है। इसके अलावा कालीपूजा और मुसलमानों के त्योहार हैं। इसलिए नवंबर से शैक्षणिक वर्ष शुरू करना संभव नहीं है। कुछ विश्वविद्यालयों ने पहले ही कहा है कि उनकी कक्षाएं शुरू करने में थोड़ी देर हो सकती है। स्नातक स्तर पर प्रवेश की प्रक्रिया अक्टूबर के अंत तक जारी रहेगी। इसलिए कक्षाएं नवंबर के दूसरे सप्ताह तक शुरू होगी।

गौरतलब हो कि हाल ही में यूजीसी ने गाइडलाइंस जारी की। गाइडलाइंस के मुताबिक डॉक्यूमेंट्स सम्बन्धी मेरिट आधारित प्रवेश 31 अक्टूबर तक और परीक्षा आधारित प्रवेश जल्द से जल्द करने होंगे। प्रोविजिनल ऐडमिशन लिए जा सकते हैं और क्वालिफाईंग एग्जाम के डॉक्यूमेंट्स 31 दिसंबर तक जमा किये जा सकते हैं।

कक्षा आयोजन सम्बन्धी होगी। सभी विश्वविद्यालय सत्र 2020-21 और 2021-22 के लिए छह दिन के सप्ताह का पैटर्न अपना सकते हैं ताकि छात्रों के इन बैच का कम से कम नुकसान हो। विश्वविद्यालय शिक्षण सत्र के नुकसान को कम करने के लिए छुट्टियों और ब्रेक की अवधि को कम कर सकते हैं।

वहीं फीस सम्बन्धी मामलों में 30 नवंबर 2020 तक कैंसिल कराये गये दाखिले या माइग्रेशन की स्थिति में पूरी फीस वापस होगी। इसके बाद 31 दिसंबर 2020 तक 1000 रुपये की प्रॉसेसिंग फीस के तौर पर कटौती के बाद पूरी फीस वापस करनी होगी।

कोविड-19 सम्बन्धी मामलों में आयोग द्वारा 29 अप्रैल और 6 जुलाई को जारी ऑनलाइन टीचिंग, परीक्षाओं के आयोजन, सामाजिक दूरी आदि के नियम लागू रहेंगे।

विज्ञापन