अप्रैल के पहले सप्ताह में बंगाल विधानसभा चुनाव! अटकलें तेज

0
996

नई दिल्ली/कोलकाताः राज्य में विधानसभा चुनाव की घंटी बज चुकी है। हालांकि अभी चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सब ठीक रहा तो अप्रैल के पहले ही सप्ताह में चुनाव हो सकते हैं। इतना ही नहीं चुनाव छह चरणों में कराया जा सकता है। वहीं चुनाव परिणाम मई के तीसरे सप्ताह में आ सकता है। चुनाव कब होंगे इसे लेकर लंबे समय से अटलकें लगाई जा रही हैं।

राज्य की स्थिति को देखने के लिए चुनाव आयोग की आज दूसरे दिन की बैठक है। सूत्रों के मुताबिक बैठक में चुनाव का कार्यक्रम तय हो सकता है। प्राप्त जानकारी कि अनुसार राजनीतिक दलों के साथ भी बैठक हो सकती है। जिसके बाद चुनाव आयोग अंतिम निर्णय ले सकता है।

उधर चुनाव आयुक्त सुदीप जैन बंगाल दौरे पर बीते कल ही पहुंचे हैं। वह बुधवार सुबह से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठकें कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक पहले चरण में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ एक बैठक में सुदीप जैन ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पर असंतोष व्यक्त किया।

गौरतलब हो कि बीते सोमवार को चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी की है। चुनाव आयोग की तरफ से पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडू और पुडुचेरी को ये एडवाइजरी जारी की गई है।

चुनाव आयोग ने साफ कहा है कि जिन अधिकारियों के खिलाफ पिछले चुनावों में लापरवाही बरतने का आरोप है उन्हें काम में ना लगाया जाए। ऐसे लोगों के खिलाफ अभी भी मामला चल रहा है। ऐसे में इन्हें ड्यूटी पर ना लगाया जाए। स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए यह फैसला लिया गया है।

पश्चिम बंगाल समेत बाकी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में चुनाव कराने को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है। कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है। चुनाव आयोग के कर्मचारियों और अधिकारियों की एक सौ प्रतिशत उपस्थित होने को कहा है, जो अब तक 33 से 50 प्रतिशत थी।

विज्ञापन