बागबाजार अग्निकांडः फिरहाद हकीम ने मकान बनाकर देने का आश्वासन दिया

0
394

कोलकाताः बीते कल बागबाजार की बस्ती में लगी आग के बाद पूरा इलाका गैस सिलेंडर के फटने से दहल गया। दमकल के 25 से अधिक इंजनों की मदद से कड़ी मेहनत के बाद आधी रात किसी तरह आग पर काबू पाया गया। हालांकि बस्ती जलकर राख हो गई है। कई लोग बेघर हो गए हैं। घटना स्थल का दौरा करने के बाद कोलकाता नगर निगम के मुख्य प्रशासक और शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम ने निगम की ओर से बेघर हुए लोगों को मकान बनाकर देने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब हो कि बुधवार शाम करीब सात बजे बागबाजार ब्रिज के पास की एक बस्ती में भीषण आग लग गई। पहले तो स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पाने की प्रयास किया। इसी बीच फायर ब्रिगेड को सूचित किया गया। मौके पर एक के बाद एक दमकल के इंजन पहुंचे। हालांकि आग फैलती गई। इस दौरान एक के बाद एक गैस सिलेंडर फट रहे थे।

आग इतनी भयानक थी कि आस-पास के कई मकानों तक पहुंच गई। बस्ती के पास में शरदा माएर बाड़ी का बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। दमकल के करीब 30 इंजनों ने आग पर काबू पाया। आधी रात तक आग पर नियंत्रण पाया गया। हालांकि बागबाजर में सैकड़ों लोगों के सिर से छत चली गई। अब जीने के लिए उनके पास कुछ नहीं है। आधाकारिक तौर पर किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। हालांकि स्थानीय लोगों ने दावा किया है कि करीब पांच बच्चे नहीं मिल रहे हैं।

अग्नीकांड की खबर सुनने के बाद मौके पर मंत्री शशि पांजा, बीजेपी नेत्री अग्नीमित्रा पाल और स्थानीय पार्षद घटना स्थल का दौरा किया। विरोध का सामना करने के बाद उन्हें वापस लौटना पड़ा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्थिति का जायजा लिया। रात को ही सागर मेला से फिरहाद हकीम कोलकाता के लिए रवाना हुए। घटना स्थल पर पहुंचे फिरहाद हकीम ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर पुनर्वास की व्यवस्था की जाएगी। अभी के लिए, सरकार अस्थायी शिविर में भोजन और आवास की व्यवस्था कर रही है।

सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय भी घटना स्थल पर पहुंचे। रैन बसेरा के लिए चार सामुदायिक हॉल खोले गए हैं। बागबाजार विमेन कॉलेज में अस्थायी शिविर की व्यवस्था की गई है। आश्रय के लिए चार सामुदायिक हॉल खोले गए हैं। बागबाजार के विमेन कॉलेज में अस्थायी शिविर की व्यवस्था रात में ही की गई।

विज्ञापन