आम आदमी के लिए बुरी खबर, जल्द बढ़ सकती है तेल, साबुन और टूथपेस्ट की कीमत

0
3103

नई दिल्लीः नये साल की शुरूआत के साथ ही आम आदमी को झटका लगता आ रहा है। इसी बीच आम आदमी की टेंशन और भी अधिक बढ़ने वाली है। दरअसल रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाली चीजें जैसे साबुन, तेल और टूथपेस्ट की कीमतों में जल्द ही इजाफा होने वाला है।

इनका उत्पादन करने वाली कंपनियां कच्चे माल के दाम बढ़ने की वजह से अपने उत्पादों के दाम बढ़ाने पर विचार कर रहीं हैं। कुछ कंपनियों ने तो दाम पहले ही बढ़ा दिये हैं, जबकि कुछ कंपनिया दाम बढ़ाने पर विचार कर रही हैं। रोजमर्रा के उपभोग का सामान बनाने वाली एफएमसीजी मैरिको सहित कई कंपनियां पहले ही दाम बढ़ा चुकी हैं।

डाबर, पारले और पतंजलि जैसी अन्य कंपनियां स्थिति पर करीब से निगाह रखे हुई हैं। सफोला और पैराशूट नारियल तेल जैसे ब्रांड बनाने वाले मैरिको ने कहा कि उनपर महंगाई का दबाव है और इसलिये उन्हें प्रभावी मूल्य वृद्धि का कदम उठाना पड़ा। सफोला कंपनी की तरफ से दी जानकारी में बताया गया कि पाम तेल, नारियल, खाद्य तेलों जैसे कई कच्चे माल के दाम हाल के दिनों में बढ़े हैं। ऐसे में उपभोक्ता सामान बेचने वाली कंपनियों के लिये 2021 में मूल्य वृद्धि का दौर लौटेगा।

वहीं पारले प्रॉडक्ट्स के वरिष्ठ श्रेणी प्रमुख मयंक शाह ने इस संबंध में कहा है कि पिछले तीन-चार महीने के दौरान हमने खाद्य तेल जैसे सामान में उल्लेखनीय वृद्धि को देखा है। इससे हमारे मार्जिन और लागत पर असर पड़ रहा है। फिलहाल हमने कोई मूल्य वृद्धि नहीं की है, लेकिन हम स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं और यदि कच्चे माल में वृद्धि का क्रम जारी रहता है तो फिर हम दाम बढ़ायेंगे।

पतंजलि आयुर्वेद ने इस संदर्भ में कहा कि वह फिलहाल देखो और प्रतीक्षा करो की स्थिति में है और अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। लेकिन कंपनी ने यह भी संकेत दिया कि वह भी उसी दिशा में आगे बढ़ रही है। डाबर इंडिया के एक वित्तीय अधिकारी ने बताया कि हाल के महीनों में कुछ खास सामानों जैसे कि आंवला और सोने-चांदी के दामों में बढ़ोतरी हुई है। जिसकी वजह से ऐसा लग रहा है कि आने वाले समय में प्रोडेक्ट्स के दामों में भी बढ़ोतरी संभव है।

विज्ञापन