अखिलेश यादव ने कहा, मैं चाहता हूं यूपी में और एक्टिव हों प्रियंका गांधी

0
7952
फाइल फोटोः पूर्व सीएम अखिलेश यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाला है। ऐसे में पहले ही प्रदेश में हलचल बढ़ हुई है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव ने मंगलवार को कहा कि मैं चाहता हूं कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी और अधिक एक्टिव हों।

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य में बीजेपी की सरकार है बावजूद जनता बेहाल है। विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी ने बहुत बड़े-बड़े वादे किये थे लेकिन कितने वादे पूरे हुए हैं? कहा गया था कि सरकार किसानों का साथ देगी। उनकी आय को दोगुनी की जायेगी लेकिन उनके ऊपर काले कानून थोपे गये।

रोजमर्रा में इस्तेमाल करने वाली वस्तुएं सरसों का तेल, आटे की कीमत, दाल की कीमत और पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान को छू रही हैं। जब से बीजेपी की सरकार आयी तब से डेयरी सेक्टर को खत्म कर दिया गया। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार में नोटबंदी के वक्त लोगों को कितनी परेशानी का सामना करना पड़ा।

जीएसटी में लोगों की जान चली गई। वैक्सीनेशन को लेकर सपा प्रमुख ने कहा कि जब देश के सारे गरीबों को वैक्सीन लग जायेगी तब वैक्सीन लगवाने वाला मैं आखिरी व्यक्ति रहूंगा। साथ ही अखिलेश यादव ने ये भी साफ किया कि समाजवादी पार्टी किसी बड़े दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

छोटे दलों के साथ गठबंधन करके समाजवादी पार्टी विधानसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि बसपा और कांग्रेस के साथ हम गठबंधन नहीं करेंगे। राम मंदिर की जमीन के विवादों को लेकर उन्होंने कहा कि टस्ट्र के सदस्यों को इस्तीफा दे देना चाहिये।

देश की जनता ने माना है कि अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है। अगर वहां से इसी तरह से भ्रष्टाचार की खबरें आती रहेगी तो कम से कम ट्रस्ट के सदस्यों को पद से इस्तीफा देना चाहिए। मर्यादा पुरषोत्तम श्रीराम के नाम पर कोई घोटाला नहीं होना चाहिये।

विज्ञापन