वायुसेना दिवसः पीएम मोदी ने कहा, वायुसेना का साहस प्रेरित करने वाला है

0
498
फाइल फोटो

नई दिल्लीः आज भारतीय वायुसेना के लिये बहुत ही खास दिन है। आज 8 अक्टूबर को वायुसेना अपने 88वें स्थापना दिवस का जश्न मना रही है। इस खास मौके पर पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि एयर फोर्स डे पर भारतीय वायुसेना के सभी वीर योद्धाओं को बहुत-बहुत बधाई। आप न सिर्फ देश के आसमान को सुरक्षित रखते हैं, बल्कि आपदा के समय मानवता की सेवा में भी अग्रणी भूमिका निभाते हैं।

मां भारती की रक्षा के लिए आपका साहस, शौर्य और समर्पण हर किसी को प्रेरित करने वाला है। वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट करके वायुसेना को बधाई दी है। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, हम आधुनिकीकरण और स्वदेशीकरण के जरिए भारतीय वायुसेना की युद्ध क्षमता बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

मुझे विश्वास है कि चाहे कुछ भी हो भारतीय वायुसेना हमेशा राष्ट्र के आसमान की रक्षा करेगी। भारतीय वायुसेना का गठन 8 अक्टूबर साल 1932 को हुआ था। 1932 में स्थापित होने वाली भारतीय वायुसेना अब तक पाकिस्तान और चीन के खिलाफ युद्ध में अपना लोहा मनवा चुकी है।

ब्रिटिश शासन से भारत की स्वतंत्रता के बाद आगे लगे जाने वाले उपसर्ग ’रॉयल’ को समाप्त कर दिया गया था। इसका प्राथमिक मिशन भारतीय हवाई क्षेत्र को सुरक्षित करना और सशस्त्र संघर्ष के दौरान हवाई युद्ध करना है। यह दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है। आपको बता दें कि भारतीय सेना दुनिया की सबसे पुरानी वायुसेना की लिस्ट में भी गिनी जाती है। समय बीतने के साथ साथ भारतीय वायुसेना ने अपने आपको को बहुत मजबूत बनाया है।

भारतीय सेना की ताकत का बदला रूप इस बात से ही अंदाजा लागाय जा सकता है कि सेना अब अपने दुश्मन देश चाहे पाकिस्तान हो या फिर चीन किसी को भी करारा जवाब देने की हिम्मत रखती है। भारतीय वायुसेना को आजादी से पहले रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था। साल 1950 के बाद इसमें से रॉयल शब्द हटाकर इंडियन एयर फोर्स कर दिया गया।

विज्ञापन