हैदराबाद के चिड़ियाघर में 8 एशियाई शेर कोरोना संक्रमित

0
855
फाइल फोटो

हैदराबाद: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण इंसानों तक ही सीमित नहीं रहा है। हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क में रखे गये 8 एशियाई शेरों में कोरोना वायरस के लक्षण पाये गये। इनमें 4 शेर और 4 शेरनियां हैं। इन चारों को चिड़ियाघर में आइसोलेट कर दिया गया है।

शेरों के कोरोना संक्रमित की खबऱ सामने आने के बाद  देश भर के चिड़ियाघरों और नेशनल पार्क्स को बंद करने का निर्देश दिया गया है। चिड़ियाघर के अधिकारियों ने जानकारी दी है कि ये सभी शेरों की तबीयत ठीक है और धीरे-धीरे रिकवर कर रहे हैं।

इन शेरों की बीते महीने आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाया गया था, जिसकी रिपोर्ट में ये संक्रमित निकले हैं। बताया जा रहा है कि बीते 24 अप्रैल को पशु चिकित्सों ने इन शेरों में कोरोना के लक्षण देखे थे। जैसे-भूख न लगना, नाक से पानी आना और कफ की शिकायत इन जानवरों में पाई गई थी।

नेहरू जूलॉजिकल पार्क के इन शेरों की उम्र 10 से 12 साल के बीच में है। कोरोना संक्रमित पाये जाने की वजह से इन शेरों को आइसोलेट कर दिया गया है और जरूरी इलाज दिया जा रहा है। सभी इलाज से अब लगातार बेहतर हो रहे हैं।
देश में पहली बाऱ ये मामला सामने आया है, जहां जानवरों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है।

अंदाजा लगाया जा रहा है कि इंसानों के संपर्क में आने से ही इन शेरों तक कोरोना का संक्रमण पहुंचा है। कुछ दिनों पहले ही नेहरू जूलॉजिकल पार्क में काम करने वाले 25 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाये गये थे। ऐसे में ये कर्मचारी शेरों के खाने-पीने से लेकर उनकी देखभाल करते थे।

उनकी वजह से ही इन तक कोरोना पहुंचा है। वहीं अभी तक इस बात का भी वास्तविक प्रमाण नहीं मिला है कि इंसानों के जरिये जानवरों तक कोरोना का संक्रमण फैलता है।

विज्ञापन