जम्मू और कश्मीर में कोरोना से 14 लोग संक्रमित

0
432
File Photo

जम्मू: कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 24000 से अधिक हो गई है। साथ ही, देश और विदेश से जम्मू-कश्मीर लौटने वाले लोग पुलिस के लिए एक चुनौती बने हुए हैं। कुछ लोग अपने यात्रा को छिपा रहे हैं। इस वजह से, पुलिस को उन्हें ढूंढना पड़ रहा है। जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस के कारण मौत के पहले मामले के बाद से प्रशासन और सख्त हो गया है। श्रीनगर में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी धर्मों के पूजा स्थलों को बंद करने के आदेश दिए गए हैं। मुस्लिम धार्मिक गुरुओं ने भी लोगों को इस आदेश का पालन करने के लिए कहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सभी से अपील की गई है कि वे घर पर ही नमाज पढ़े और बाहर न निकलें। प्रशासन लगातार लोगों से अपील कर रहा है कि ज्यादा जरूरी काम की वजह से ही वे अपने घरों से बाहर निकलें। अपने घरों से बाहर आने वालों के आईडी कार्ड देखने के बाद ही बाहर जाने की अनुमति है। सुरक्षाकर्मी हर चौक पर तैनात हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को किसी समस्या का सामना न करना पड़े। श्रीनगर प्रशासन ने पीडीएस राशन की होम डिलीवरी करने का फैसला किया है। प्रशासन लगातार लोगों से सरकारी आदेशों का पालन करने की अपील कर रहा है। इसके बावजूद, कई लोग ऐसे भी दिखाई दिए जो सड़कों पर घूम रहे थे। पुलिस ने ऐसे लोगों को दंडित भी किया। साथ ही दोबारा ऐसा न करने की सलाह भी छोड़ दी।

सूत्रों का कहना है कि जम्मू और कश्मीर में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 14 हो गई है। गुरुवार को कश्मीर में कोरोनो वायरस की पहली मौत हुई थी। इसके बाद प्रशासन ने सख्ती और भी बढ़ा दी है। शुक्रवार की सुबह भी राज्य की सड़कें पूरी तरह से सुनसान दिखीं। लाॅकडाउन व बारिश के कारण सड़कों पर दिखाई देने वाले लोगों की काफी कल संख्या है।

विज्ञापन