अमेरिका ने लड़ाकू विमान उड़ाकर दिखाई उत्तर कोरिया को ताकत

0
150

सोल: उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच विवाद गहराता जा रहा है। उत्तर कोरिया की ओर से हाल ही में न्यूक्लियर और मिसाइल परीक्षणों के बाद अमेरिका के चार फाइटर जेट और दो बम वर्षक विमानों ने कोरियाई प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान भरकर ताकत दिखाई। दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री ने यह जानकारी दी है। दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि चार F-35B फाइटर जेट और दो B-1B बमवर्षक विमानों ने प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान भरकर अमेरिका और साउथ कोरिया की साझा ताकत का प्रदर्शन किया। उत्तर कोरिया की परमाणु और मिसाइल हमले की धमकियों के मद्देनजर यह शक्ति प्रदर्शन किया गया।

उत्तर कोरिया की ओर से 3 सितंबर को किए गए छठे और सबसे ताकतवर न्यूक्यिर टेस्ट और जापान के ऊपर से मिसाइल छोड़ने से बढ़े तनाव के बाद यह पहला मौका था, जब अमेरिकी फाइटर जेट्स ने उड़ान भरी। साउथ कोरिया की डिफेंस मिनिस्ट्री ने बताया कि अमेरिकी फाइटर जेट्स ने 4 दक्षिण कोरिया F-15K फाइटर जेट्स के साथ उड़ान भरी। हालांकि यह अमेरिका और दक्षिण कोरिया के साझा प्रशिक्षण कार्यक्रम का हिस्सा था। दक्षिण कोरिया ने कहा कि दोनों देश अपनी साझा ताकत को प्रदर्शित करने के लिए इस तरह के अभ्यास करते रहेंगे।

- Advertisement -

इससे पहले 31 अगस्त को अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने आसमान में अपनी ताकत दिखाई है। अमेरिका लगातार उत्तर कोरिया पर दबाव बढ़ा रहा है। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी ऐंबैसडर निक्की हेली ने कहा था कि यदि प्योंगयांग ने हथियारों के परीक्षण पर लगाम नहीं लगाई तो वह ‘बर्बाद’ हो जाएगा। इसी सप्ताह संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का संबोधन होने वाला है। इसके अलावा वह दक्षिण कोरिया और जापान के नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। हाल ही में तानाशाह किम जोंग उन के शासन वाले उत्तर कोरिया की ओर से हाइड्रोजन बम का परीक्षण किए जाने के बाद से तनाव खासा बढ़ गया है।